BBC navigation

क्या है सैंडी?

 मंगलवार, 30 अक्तूबर, 2012 को 03:38 IST तक के समाचार
सैंडी

सैंडी तूफान से पानी की तीन मीटर ऊंची लहरे उठ सकती हैं

चक्रवाती तूफ़ान सैंडी एक उष्णकटिबंधीय चक्रीय आंधी है जो पहले ही कैरिबियाई क्षेत्र के जमैका, क्यूबा, हेती और बहामा के द्वीपों पर अपना क़हर ढा चुकी है.

इसकी शुरूआत कैरिबियाई सागर से 22 अक्तूबर के आसपास हुई थी, लेकिन दो दिनों के बाद ही इसकी गति में इतनी तेज़ी आ गई कि इसे चक्रवाती तूफ़ान की श्रेणी में गिना जाने लगा.

किसी भी उष्णकिटबंधीय तूफ़ान को चक्रवाती तूफ़ान की श्रेणी में तब गिना जाने लगता है जब उसकी गति कम से कम 74 मील प्रति घंटे पहुंच जाती है.

इसमें इतनी ऊर्जा पैदा करने की क्षमता होती है जितनी कि 10,000 परमाणु बम कर सकते हैं. चक्रवती तूफ़ान की कुंडली कोरियोलिस इफ़ेक्ट की वजह से होती है जिसका संबंध धरती के घूमने से है.

अबतक 69 लोगों को लील चुका चक्रवाती तूफ़ान, मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक़ 90 मील प्रति घंटे की रफ़्तार और तेज़ झोंके के साथ अमरीका के पूर्वी तट की तरफ़ बढ़ रहा है, जहां पहुंचने से पहले मौसम के प्रभाव की वजह से और अधिक उग्र रूप अख्तियार कर लेगा और 12 राज्य इसके प्रभाव-क्षेत्र में हैं.

आपातकाल

राष्ट्रपति कार्यालय ने न्यूयार्क, न्यूजर्सी, कानेक्टिकट को मिलाकर नौ क्षेत्रों के लिए आपातकाल के हुक्म जारी किए हैं.

तूफ़ान से पानी की तीन मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं, कई जगहों पर भारी बर्फबारी और सैलाब की संभावना है. इससे अमरीका में सीधे तौर पर कम से कम छह लाख लोग प्रभावित हैं.

हालांकि न्यूयार्क स्टॉक एक्सचेंज ने पहले खूले रहने की घोषणा की थी लेकिन सोमवार को उसे बंद करना पड़ा. शेयर बाज़ार 1985 के बाद पहली बार बंद हुआ है.

कई शहरों में सरकारी परिवहनों, और स्कूलों बंद हैं, हवाई सेवाएं रद्द हुई हैं. आर्थिक विश्लेषकों का कहना है तूफ़ान की वजह से अनुमानत: दो अरब से एक खरब डॉलर के बीच नुक़सान हो सकता है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.