BBC navigation

सेविल स्कैंडल: बीबीसी की स्वतंत्रता पर ज़ोर

 बुधवार, 24 अक्तूबर, 2012 को 15:46 IST तक के समाचार
जिमी सेविल

जिमी सेविल का पिछले साल 84 वर्ष की उम्र में निधन हो गया था

बीबीसी ट्रस्ट के अध्यक्ष लॉर्ड पैटन ने ब्रिटेन की संस्कृति मंत्री मारिया मिलर के पत्र के जवाब में बीबीसी को सरकार से स्वतंत्र रखने पर जोर दिया है.

देश की संस्कृति मंत्री मारिया मिलर ने पत्र लिखकर कहा था कि बीबीसी के कार्यक्रम न्यूजनाइट ने बीबीसी के पूर्व प्रसारक जिमी सेविल की जांच को रोकने के बारे में जो अपर्याप्त तथ्य पेश किए हैं, उनकी वजह से आम लोगों में बीबीसी की विश्वसनीयता पर सवाल उठ रहे हैं.

इसके जवाब में लॉर्ड पैटन का कहना था कि इस मामले में बीबीसी की जांच व्यापक और स्वतंत्र होगी.

पैटन का ये बयान बीबीसी के महानिदेशक जॉर्ज एंटविसल के ब्रितानों सांसदों के समक्ष पेशी के बाद आया है.

एंटविसल ने मंगलवार को संसद के निचले सदन के सदस्यों को बताया था, ‘ऐसा लगता है कि बीबीसी की पुरानी संस्कृति और कार्यशैली जिमी सेविल को वो करने की अनुमति देती थी जो उन्होंने किया.’

उन्होंने कहा कि न्यूजनाइट कार्यक्रम को सेविल पर लगे यौन शोषण संबंधी आरोपों की जांच को बंद नहीं चाहिए था. जिमी सेविल बीबीसी के स्टार प्रसारक थे जिनका पिछले साल 84 वर्ष की आयु में निधन हो गया था.

लेकिन एंटविसल का ये भी कहना था कि उन्हें ये यकीन नहीं होता कि बीबीसी प्रबंधन ने इस बारे में खबर न प्रसारित करने के लिए कोई दबाव बनाया हो.

आरोप

"ऐसा लगता है कि बीबीसी की पुरानी संस्कृति और कार्यशैली जिमी सेविल को वो करने की अनुमति देती थी जो उन्होंने किया"

जॉर्ज एंटविसल, बीबीसी के महानिदेशक

पुलिस ने सेविल मामले की आपराधिक जांच शुरू कर दी है. उसका कहना है कि सेविल सेक्स के भूखे थे और हो सकता है कि उन्होंने अपने चालीस साल के कार्यकाल में जवान लड़कियों समेत तमाम लोगों का यौन शोषण किया हो.

इस बीच कई स्वयंसेवी संस्थाओं का कहना है कि सेविल का मामला जबसे सामने आया है, तबसे उनके पास ऐसे कई फोन आ रहे हैं जिनमें लोग कई साल पहले अपने साथ हुए यौन शोषण की बात कह रहे हैं.

इससे पहले, पिछले हफ्ते संस्कृति मंत्री मारिया मिलर ने कहा था कि सेविल पर लगे यौन शोषण संबंधी आरोपों को बीबीसी ने बहुत गंभीरता से लिया है. साथ ही उन्होंने बीबीसी द्वारा मामले की जांच कराए जाने के कदम का स्वागत किया था.

लेकिन मंगलवार को उन्होंने लॉर्ड पैटन को भेजे पत्र में उन्होंने कहा कि आम लोगों में बीबीसी की विश्वसनीयता पर सवाल उठाना बहुत हैरान करने वाला है.

मिलर ने लॉर्ड पैटन के उस कदम का भी स्वागत किया है जिसमें उन्होंने कहा था कि इस बारे में जहां कहीं भी प्रमाण मिलेंगे, जांच टीम वहां जाएगी.

उन्होंने कहा था, “बीबीसी के संप्रभु निकाय होने के नाते ट्रस्ट का ये दायित्व है कि वो उन लोगों का भरोसा खुद पर बनाए रखे जो इसे पैसा देते हैं.”

जवाब

जिमी सेविल

जिमी सेविर पर बच्चों के यौन शोषण के गंभीर आरोप लगे थे

इस पत्र के जवाब में लॉर्ड पैटन ने कहा, “आपको पता है कि जिमी सेविल पर लगे आरोपों को और ट्रस्ट ने कितनी गंभीरता से लिया है ताकि लोगों का उस पर भरोसा कायम रहे.”

लेकिन उन्होंने आगे ये भी लिखा, “मुझे विश्वास है कि आप ऐसा कुछ नहीं कहेंगी जिससे कि लगे कि आप बीबीसी की स्वतंत्रता पर सवाल खड़े कर रही हैं.”

उन्होंने इस बात पर फिर जोर दिया कि सेविल की खबर को न प्रसारित करने का फैसला न्यूजनाइट कार्यक्रम के संपादक पीटर रिपन का था, इसके लिए उन पर किसी तरह का दबाव नहीं था.

इस महीने की शुरुआत में पीटर रिपन ने अपने ब्लॉग में लिखा था कि खबर न प्रसारित करने पर उन्होंने संपादकीय निर्देशों का पालन किया था, जिसमें कुछ लोग उसके पक्ष में थे और कुछ विरोध में.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.