BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
बुधवार, 13 मई, 2009 को 06:51 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
'सहयोगियों से बात कर फ़ैसला करेंगे'
 
जयललिता
पिछले लोक सभा चुनाव में जयललिता को एक भी सीट नहीं मिली थी
तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता का कहना है कि चुनाव नतीजे उनकी उम्मीदों पर खरे उतरे तो वो सरकार गठन के सिलसिले में दिल्ली जाएँगी.

मतदान के बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि वो कोई भी फ़ैसला करने से पहले अपने सहयोगियों से बात करेंगी.

उल्लेखनीय है कि इस बार तमिलनाडु में जयललिता ने पीएमके और वामपंथी दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ा हैं.

समर्थन करने के सवाल पर उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि वो 16 मई को चुनाव नतीजों का इंतज़ार करेंगी.

दूसरी ओर डीएमके नेता करुणानिधि ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यूपीए गठबंधन मजबूत है.

उन्होंने विश्वास जताया कि यूपीए की एक बार फिर सरकार बनेगी और डीएमके तमिलनाडु में जीत कर इतिहास बनाएगा.

उल्लेखनीय है कि ऐसा माना जा रहा है कि केंद्र में अगली सरकार का रास्ता तमिलनाडु से होकर जाएगा. ऐसे में जयललिता अचानक सबकी निगाह में बेहद महत्वपूर्ण हो गई हैं.

बदला रुख़

पिछली बार कांग्रेस-डीएमके गठबंधन ने तमिलनाडु की सभी सीटों जीत दर्ज की थी लेकिन इस बार हवा का रुख़ जयललिता के पक्ष में माना जा रहा है.

तमिलनाडु में श्रीलंका में 'तमिलों की दुर्दशा' एक बड़ा चुनावी मुद्दा बना गया है.

दोनों पार्टियों में राजनीतिक होड़ का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि अगर अन्नाद्रमुक की नेता और पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता एक दिन के भूख हड़ताल पर बैठतीं हैं तो मौजूदा मुख्यमंत्री और डीएमके नेता करुणानिधि बिना मौक़ा गंवाए वैसा ही करते हैं.

जयललिता ने ज्यों ही वादा किया कि श्रीलंका में अलग तमिल राष्ट्र के गठन के लिए सेना भेजा जाएगा.

उस समय 84 वर्षीय करूणानिधि अस्पताल में थे, लेकिन बिना कोई वक़्त बर्बाद किए उन्होंने वादा कर डाला कि तमिलों के लिए 'वो अपनी पूरी ताक़त' झोंक देंगे.

जयललिता तमिल मुद्दे पर डीएमके पर भी निशाना साधने से नहीं चूकतीं, क्योंकि डीएमके केंद्र की गठबंधन सरकार में शामिल हैं.

जयललिता के अनुसार शुरुआत से ही संघर्ष विराम सुनिश्चित करने में भारत निष्क्रिय रहा जबकि करुणानिधि इसका खंडन करते हैं.

 
 
जयललिता तमिलों का मुद्दा
तमिलनाडु में 'श्रीलंकाई तमिलों की दुर्दशा' बड़ा चुनावी मुद्दा बनकर उभरा है.
 
 
जयललिता तमिलनाडु किस ओर?
तमिलनाडु के चुनावी समीकरणों और मतदाताओं के रुख़ पर विशलेषण.
 
 
चंडीगढ़ की झुग्गी बस्ती झुग्गियों का सच!
चंडीगढ़ के बीच बसी झुग्गियाँ विभिन्न दलों के लिए बड़ा वोट बैंक हैं.
 
 
यौनकर्मी रेखा यौन नहीं मतदानकर्मी
चुनाव में इस बार यौनकर्मी महिलाएँ हिस्सा ले रही हैं पर पोलिंग एजेंट की तरह.
 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
पहले चरण में 60 फ़ीसदी मतदान
17 अप्रैल, 2009 | चुनाव 2009
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>