कश्मीर विवादास्पद क्षेत्र है: पाक उच्चायुक्त

  • 20 अगस्त 2014

भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने एक बार फिर दोहराया है कि जम्मू-कश्मीर विवादास्पद क्षेत्र है, लिहाजा इस मुद्दे पर सभी पक्षों से बातचीत करना जरूरी है.

उन्होंने कश्मीरी अलगाववादी नेताओं से बातचीत के मसले पर कहा, "यह लंबे समय से चली आ रही प्रक्रिया थी. हमें लगता है कि कश्मीर की समस्या को सुलझाने में उनकी भी महत्वपूर्ण भूमिका है."

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि पाकिस्तान, भारत के साथ अच्छे संबंध चाहता है.

नई दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रेंस में मीडिया को संबोधित करते हुए अब्दुल बासित ने कहा, "दोनों देशों के बीच सचिव स्तर की बातचीत को रद्द किए जाने से दोनों देशों के बीच शांति प्रक्रिया पर कोई असर नहीं पड़ेगा. हमें विश्वास है कि हम इससे जल्द उबर जाएंगे."

उधर अमरीकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मैरी हार्फ़ ने भी कहा है कि अमरीका, भारत और पाकिस्तान के बीच वार्ता फिर से शुरू करने की पूरी कोशिश कर रहा है.

पाक भी आतंकवाद से पीड़ित

भारत सरकार के कथित तौर पर मना करने के बाद भी पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी से मिले.

जिसके बाद भारत ने दोनों देशों के विदेश सचिवों के बीच 25 अगस्त से प्रस्तावित इस बातचीत को रद्द करने का फ़ैसला लिया था.

अब्दुल बासित ने ये भी दोहराया कि पाकिस्तान भी आतंकवाद से पीड़ित है, ऐसे में दोनों देशों के बीच आपसी रिश्तों के बेहतर होने से ही दोनों देशों की तरक्की संभव है.

पाकिस्तानी उच्चायुक्त के मुताबिक भारत और पाकिस्तान के बीच आपसी संबंध बेहतर होने का असर सार्क देशों के संबंधों पर भी पड़ेगा.

पाकिस्तान की ओर से सीज़फायर के उल्लंघन के मामले पर उन्होंने कहा कि भारत की ओर से भी पिछले दिनों 57 बार सीज़फायर का उल्लंघन हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)