फ़ेसबुक पर 'रेप की धमकी', गिरफ़्तारी

  • 2 अगस्त 2014
फ़ेसबुक

बंगलुरु पुलिस ने फ़ेसबुक पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में वीआर भट्ट नाम के एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है.

पुलिस उनके ख़िलाफ़ गुंडा एक्ट लगाने पर विचार कर रही है. गुंडा एक्ट के तहत अभियुक्त को एक साल तक ज़मानत नहीं मिलने का प्रावधान है.

भट्ट एक अख़बार में कॉलम लिखते हैं और उन्हें आरएसएस से जुड़ा बताया जाता है.

हालांकि आरएसएस ने एक बयान जारी कर सफाई दी है कि भट्ट का आरएसएस से लेना-देना नहीं है और संगठन उनके विचारों से सहमति नहीं रखता.

बंगलुरु पुलिस के मुताबिक वीआर भट्ट ने एक महिला सामाजिक कार्यकर्ता प्रभा बेनामगला के फ़ेसबुक पोस्ट के जवाब में लिखा था कि उन जैसी महिलाओं का बलात्कार होना चाहिए. भट्ट ने यह कथित संदेश महिला कार्यकर्ता के इस पोस्ट के जवाब में लिखा था कि वह समाज में वैज्ञानिक प्रवृत्ति की कमी से निराश हैं.

पुलिस के मुताबिक भट्ट ने अपने पोस्ट में लिखा था, "सबसे पहले, आप जैसी महिलाओं को बालों से पकड़ना चाहिए और बलात्कारी को आपका रेप करना चाहिए. यही समाधान है."

बंगलुरु पुलिस के अतिरिक्त आयुक्त (क़ानून-व्यवस्था) आलोक कुमार ने बीबीसी को बताया, "उन्हें आपराधिक धमकी, महिला के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक टिप्पणी और इंटरनेट पर जासूसी करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है. हम उनके ख़िलाफ़ गुंडा एक्ट लगाने पर भी विचार कर रहे हैं."

भट्ट के ख़िलाफ़ बंगलुरु के ही एक अन्य पुलिस स्टेशन में दूसरे समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का मामला भी दर्ज़ किया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार