दो बच्चों की माँ थी सामूहिक बलात्कार की पीड़ित

  • 18 जुलाई 2014
सुतपा सान्याल
महिला अधिकारी सुतपा सान्याल इस मामले की जांच करेंगी

लखनऊ के मोहनलालगंज क्षेत्र में बुधवार की रात जिस महिला की सामूहिक बलात्कार के बाद बर्बरता से हत्या कर दी गई थी, शुक्रवार को उसकी शिनाख्त हो गई.

पुलिस के अनुसार महिला विधवा थी और उसके दो बच्चे हैं. उसे उम्मीद है कि हत्यारे जल्दी ही पकड़ लिए जाएंगे.

तीस वर्षीय महिला गोरखपुर की रहने वाली थी और लखनऊ स्थित संजय गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज में ठेके पर काम करती थी. पुलिस के अनुसार महिला विधवा थी और उसके दो बच्चे हैं.

शुक्रवार की सुबह मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस घटना में जांच के आदेश दिए. जांच की ज़िम्मेदारी अपर पुलिस महानिदेशक आर्थिक अपराध शाखा सुतपा सान्याल को सौंपी गई है.

'कान की बाली मिली'

सान्याल ने मौके का निरीक्षण किया जहां कल रात से हो रही बारिश ने काफी सबूतों की सफाई कर दी थी. फिर भी उन्होंने वह रास्ता देखा जहां से महिला को लेकर वे व्यक्ति उस स्कूल परिसर में घुसे और सीमेंट की बेंच पर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया.

उस बेंच के नीचे से महिला के सिर के बाल और कान की एक बाली गुरुवार को मिली थी. उसका कुर्ता, दुपट्टा और अन्य वस्त्र स्कूल के मैदान में बिखरे हुए पड़े थे.

ये सब उस समय हुआ जब पुलिस प्रशासन इस स्थान से लगभग आठ किलोमीटर दूर अमरीका के भूतपूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के आगमन के सिलसिले में सुरक्षा तैयारी में लगा हुआ था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार