'बच्चों को छोड़ लौटना ही पड़ेगा इराक़..'

  • 7 जुलाई 2014
इराक लौटने वाली भारतीय नर्स सोनिया

एक ओर हिंसाग्रस्त इराक़ से बड़ी संख्या में भारतीय नर्सें स्वदेश लौट रही हैं तो दूसरी ओर केरल की एक नर्स को वापस इराक़ लौटना पड़ रहा है.

अपनी आर्थिक मजबूरियों के चलते सोनिया जोमोन दक्षिणी इराक़ के नसीरिया काम पर लौट रही हैं.

सोनिया केरल के कोटायम जिले में रहती हैं. उनकी दो बेटियां हैं. सोनिया उन्हें छोड़कर जाने को मजबूर हैं.

सोनिया ने बताया, "इराक़़ से आने के समय मैं इतनी चिंतित नहीं थी. अब ज्यादा चिंता सता रही है."

कर्ज का दबाव

सोनिया 10 जून को भारत छुट्टी पर आई थीं. लगभग उसी वक्त आईएसआईएस के जिहादियों ने उत्तरी इराक़़ के मोसुल और तिकरित पर क़ब्ज़ा कर लिया था.

वो कहती हैं, "मेरे दोस्त वापस चले गए हैं. उन्होंने बताया है कि वहां हालात सामान्य है."

इराक में फंसी भारतीय नर्सें

पति जोमोन थॉमस ने बीबीसी को बताया, "मैं डरा हुआ हूं, लेकिन यदि मुश्किलें न होतीं तो सोनिया क़तई वापस न जाती.’’

दूसरी ओर सोनिया का कहना है, "डर तो लग रहा है, फिर भी हिम्मत बांध रखी है क्योंकि दक्षिणी इराक़़ में उत्तरी इराक़ जैसी कोई समस्या नहीं है. आर्थिक समस्याएं गंभीर हैं इसलिए मुझे लौटना ही होगा.’’

सोनिया ने नसीरिया में 10 महीने काम करने के बाद एजेंट का कर्ज़ तो चुकता कर दिया है. लेकिन अपनी पढ़ाई के लिए लिए गए चार लाख रुपयों का कर्ज़ अभी बाक़ी है.

वो कहती हैं, "लीबिया या कनाडा में अच्छी नौकरी मिल सकती है लेकिन कैश अकाउंट बैलेंस दिखाना पड़ेगा. फिर एजेंट को 5-10 लाख देने पड़ेंगे."

इराक में फंसी भारतीय नर्स

सोनिया के हालात नसीरिया में काम करने वाली एक और नर्स सिंधू जैसे हैं.

शांतिपूर्ण हालात

सिंधु जून के अंतिम हफ्ते में इराक़़ वापस लौट गई थीं.

ये वो वक़्त था जब तिकरित के हिंसाग्रस्त इलाके़ में फंसे भारतीय कामगार बगदाद स्थित दूतावास और केरल के मुख्यमंत्री को तत्काल इराक़ से निकालने की गुहार लगा रहे थे.

सोनिया की तरह सिंधु को भी नसीरिया से दोस्तों ने हालात शांतिपूर्ण बताते हुए लौट आने को कहा था.

इरबिल हवाई अड्डे पर भारतीय नर्सें

सिंधु ने सोनिया को रविवार को संदेश भेजा था कि यहां सब ठीक है.

साफ़ है कि क़र्ज़ का दबाव सोनिया और सिंधु जैसी नर्सों को ख़तरा मोल लेकर भी इराक़ वापस लौटने को मजबूर कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार