नमो आर्गो संवाद के बाद ट्वीट, जो नहीं आए

  • 9 मई 2014
मोदी-अर्णब कार्टून

'बुरा न मानो चुनाव है' वाला माहौल चल रहा है, ऐसे में अर्णब गोस्वामी ने नरेंद्र मोदी का जो इंटरव्यू किया है वह मील का पत्थर है. उसे भारतीय टीवी समाचार चैनलों के इतिहास के सबसे संयत और शालीन डेढ़ घंटे के तौर पर दर्ज किया जाना चाहिए.

ये इंटरव्यू ट्रेंडसेटर होगा या नहीं, कहा नहीं जा सकता लेकिन #modispeaksToArnab लंबे समय तक टाप ट्रेंड रहा, जब तक आप दो-चार ट्वीट पढ़ें 200 नए आ जाते थे.

जब मोदी जी गंगा मैया को ट्वीट भेजकर माफ़ी माँग सकते हैं, गंगा मैया के आशीर्वाद का ट्वीट भी आ सकता है, तो मोदी के ताज़ा इंटरव्यू के बाद के उन ट्वीट्स पर क्यों न नज़र डालें जो आए ही नहीं.

ट्वीट्स जो नहीं आए

@EX-CMKejriwal(अरविंद केजरीवाल)- मोदी सिर्फ़ कार्पोरेट मीडिया से बात कर सकते हैं, मुझे भगोड़ा कहने वाले मुझसे बहस करने से क्यों भाग रहे हैं, देखा, अर्णब ने गैस के दाम वाला सवाल नहीं पूछा.

@RaGa (राहुल गांधी)- एप्को का काम देंत्सु एंड बर्सन-मार्सटेलर से बेहतर है, पता नहीं कैसे जापानी कंपनी के चक्कर में पड़ गया, वैसे अंग्रेज़ी चैनल अमेठी में कौन देख रहा होगा?

@MrsModi (यशोदबेन)- हिंदी चैनल वालों ने नहीं पूछा, इंग्लिश चैनल वाला हिंदी में मुश्किल सवाल पूछने लगा तो थोड़ी उम्मीद हुई, लेकिन नहीं पूछा मेरे बारे में, ओपेन मैगज़ीन ही अच्छा है.

@JustArnab (अर्णब गोस्वामी)- 'नेशन वांट्स टू नो'बोलना रह गया, मेरे माइक का वाल्यूम भी थोड़ा कम था, वैसे मोदी जी अच्छे एडिटर इन चीफ़ हो सकते हैं, बोला रिसर्च करो, ट्रांसलेशन ठीक नहीं है.

@HelicopterAdani (गौतम अडाणी)- मोदी जी कह चुके, मैं भी कई बार बोला कि हम दोस्त नहीं हैं लेकिन मुझे देश भर में मिली ज़मीन की जाँच कराने का आइडिया तो दुश्मनी वाला है.

@HinduTogadia (प्रवीण तोगड़िया)-सनातन धर्म आस्था का विषय है, अदालत कैसे तय कर सकती है, नरेंद्र भाई भटक रहे हैं,कह रहे हैं हिदू धर्म नहीं है, लाइफ़स्टाइल है, मतलब मंदिर नहीं मॉल में जाओ?

@CWGKalmadi (सुरेश कलमाडी)- मेरा नाम नहीं लिया, लेकिन नीच राजनीति में कामनवेल्थ गेम की बात करना 'बिलो द बेल्ट' अटैक है, टायलेट पेपर की बात की मोदी ने, कौन टायलेट पेपर 'अवब द बेल्ट' कौन इस्तेमाल करता है?

@TouristSnowden (एडवर्ड स्नोडन)- भारत के होने वाले वाले प्रधानमंत्री अमरीकी जासूसी को बहुत गंभीरता से ले रहे हैं, वे ख़ुद हज़ारों टेराबाइट डेटा का अध्ययन करना चाहते हैं जो अभी तक अमरीकियों ने भी नहीं किया है.

(ट्वीट की तरह ट्विटर हैंडल भी काल्पनिक हैं)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार