BBC navigation

राहुल की अमेठी में मोदी की ललकार

 सोमवार, 5 मई, 2014 को 16:18 IST तक के समाचार
नरेंद्र मोदी की रैली, अहमदाबाद

अमेठी क्षेत्र में गौरीगंज से सटे एक बड़े मैदान में भारतीय जनता पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने एक रैली को संबोधित किया है.

रैली में एकदम जलसे का माहौल था, मैदान ढोल नगाड़े की आवाज़ से गूँज रहा था.

मंच के ठीक पीछे एक अस्थायी हैलीपैड बनाया गया था जिस पर नरेंद्र मोदी का हेलिकॉप्टर उतरा. पूरे रैली स्थल पर 10 विशाल एलसीडी स्क्रीन लगाए गए जिन पर मोदी के आने से पहले उनके बारे में छोटी वीडियो फ़िल्में दिखाई जा रही थीं.

प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के कई बड़े नेता और राष्ट्रीय नेता भी पिछले दो दिनों से अमेठी में डेरा डालकर बैठे थे, उन्होंने मोदी की रैली को सफल बनाने की कोशिश में कोई कसर नहीं छोड़ी.

क्लिक करें महारानी, राजकुमार के बाद अब नौकर को जिताओ: कुमार विश्वास

सोमवार सुबह से ही हजारों लोगों का हुजूम बसों, ट्रैक्टरों और जीपों में भरकर रैली स्थल पर इकट्ठा होना शुरू हो गया था.

पास-पड़ोस के ज़िले

रैली शुरू होने के एक घंटे पहले तक करीब 300 बसों और उतनी ही गाड़ियों में भरकर लोग वहाँ पहुँचे.

रैली स्थल पर पानी के पानी की पर्याप्त सुविधा थी, साथ ही खाने की भी व्यवस्था अच्छी थी. रायबरेली से सुल्तानपुर के टेंट हाउसों से प्लास्टिक की कुर्सियां और दरियां तक मंगाई गई हैं.

क्लिक करें राहुल की अमेठी में कांग्रेसी उधेड़बुन

हालांकि ये साफ तौर पर नजर आया कि रैली में आए कम-से-कम आधे लोग अमेठी के नहीं हैं बल्कि आस-पड़ोस के जिलों के हैं.

महिलाओं की भागीदारी

नरेंद्र मोदी की रैली, अहमदाबाद

प्रदेश के चुनाव प्रभारी अमित शाह और प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी की निगरानी में सारे इंतजाम करवाए गए हैं.

वैसे ये बात आश्चर्यजनक है कि वरूण गांधी, जो पास के सुल्तानपुर से उम्मीदवार हैं, रैली में समय पर नहीं पहुँच पाए जबकि अमेठी से भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी रैली के लिए जुट लोगों से मिलती रहीं.

निश्चित तौर पर इस रैली से मोदी और भाजपा ने देश भर में एक संकेत देने की कोशिश की है कि वो गांधी परिवार के गढ़ अमेठी में भी अपनी ताकत दिखा सकते हैं.

क्लिक करें अमेठी में स्मृति ईरानी का सामना राहुल गांधी से

खास बात ये है कि रैली में महिलाएं काफी संख्या में दिखीं. आम तौर पर इस क्षेत्र की रैलियो में, खराब मौसम या गर्मी के बीच महिलाओं की कम भागीदारी होती रही है.

अमेठी में कुमार विश्वास

मोदी और भाजपा की कोशिश है कि चुनाव प्रचार की समय सीमा खत्म होने से ऐन पहले इस पूरे क्षेत्र में वोटरों तक अपनी पहुंच बनाई जा सके.

विशाल रैली

सात मई को अमेठी समेत जिन 15 लोकसभा सीटों पर मतदान होना है उसमें भाजपा की झोली में फिलहाल एक भी सीट नहीं है.

रैली में आने वाले ज्यादातर लोग यही कह रहे हैं कि वे विकास के मुद्दे पर भाजपा को वोट देंगे.

हालांकि उनमें से ज्यादातर को ये नहीं पता है कि गुजरात में किस तरह का विकास हो रहा है.

नरेंद्र मोदी की रैली, अहमदाबाद

रैली में आए कुछ लोगों का निजी मत है कि यहां पर इस तरह की विशाल रैली सोनिया गांधी की भी नहीं हुई.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे क्लिक करें फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और क्लिक करें ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.