BBC navigation

'दो गज ज़मीन' और 'चौकीदार' के ज़ुबानी तीर

 गुरुवार, 1 मई, 2014 को 21:44 IST तक के समाचार
राहुल, मोदी, केजरीवाल

भारत की 16वीं लोकसभा के लिए हो रहे चुनावों के सात चरण समाप्त हो चुके हैं, अभी दो चरणों के चुनाव बाक़ी हैं. लेकिन सभी दलों के नेताओं के भाषणों में आरोपों-प्रत्यारोपों और बयानबाज़ियों का स्तर वैसा ही है जैसा कि चुनाव से पहले था.

फ़िलहाल इतना ज़रूर हुआ है कि जगह बदलने से नेताओं की ओर से लगाए जाने वाले आरोपों का विषय बदल गया है.

गुरुवार को सीमांध्र में भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कई चुनावी रैलियों को संबोधित किया.

मदनापल्ली में हुई रैली में मोदी ने यूपीए सरकार पर तेलुगुभाषी लोगों का क्लिक करें अपमान करने का आरोप लगाया.

दो गज ज़मीन

मोदी ने कांग्रेस पार्टी पर आंध्र प्रदेश को बाँटने का आरोप तो लगाया ही, उन्होंने क्लिक करें सोनिया गांधी पर पूर्व प्रधानमंत्री नरसिंह राव के अपमान का भी आरोप लगाया.

उन्होंने कहा, “माँ-बेटे की सरकार ने उनके स्वर्गवास के बाद दिल्ली में दो गज ज़मीन तक नहीं दी. वो कांग्रेस के नेता थे लेकिन उनके मृत शरीर को कांग्रेस कार्यालय में एंट्री तक नहीं दी गई.”

लालू यादव

वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी गुरुवार को हिमाचल प्रदेश में थे. उन्होंने अपने भाषणों में भाजपा और ख़ासकर नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा.

राहुल गांधी ने गुजरात के विकास और व्यवस्था पर भी सवाल उठाए.

गुजरात की चौकीदारी

गुजरात के विकास मॉडल पर सवाल खड़े करते हुए राहुल गांधी बोले, “गुजरात में लोकायुक्त एक-दो महीने पहले नियुक्त हुआ है. मोदी जी अकेले गुजरात की चौकीदारी करना चाहते हैं. लेकिन मैं आपको बता देना चाहता हूं कि गुजरात में जिस दिन लोकायुक्त आ गया, गुजरात का चौकीदार अंदर हो जाएगा.”

बिहार में कांग्रेस के साथ चुनाव लड़ रहे क्लिक करें राष्ट्रीय जनता दल के नेता लालू प्रसाद ने भी नरेंद्र मोदी पर हमला बोला.

राहुल, नरेंद्र मोदी

लालू प्रसाद यादव ने कहा, “नरेंद्र मोदी को पाकिस्तान भेज दिया जाए. वो दूसरों को भेज रहे हैं, खुद जाएं तब समझ में आए.”

आम आदमी पार्टी के साथ जदयू

नेताओं की बयानबाज़ी और आचार संहिता के उल्लंघन के मामलों में कई नेताओं पर सख़्ती के बाद नेताओं के निशाने पर चुनाव आयोग भी आ गया है.

चुनाव आयोग ने जब नरेंद्र मोदी पर कार्रवाई की तो उन्होंने इसके लिए आयोग की बजाय कांग्रेस पार्टी को ज़िम्मेदार ठहराया. जबकि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के नेता आज़म ख़ान ने आयोग को कटघरे में खड़ा किया.

वाराणसी में आप

आजम खान ने कहा, “चुनाव आयोग ने सिर्फ़ मेरा नाम देखा, मेरा धर्म देखा और मेरी जाति देखी. और कमज़ोर मुसलमानों को इसलिए बेज़ुबान किया ताकि भारतीय जनता पार्टी की मदद की जा सके.”

इस बीच जनता दल यूनाइटेड ने वाराणसी संसदीय सीट पर आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार अरविंद केजरीवाल को समर्थन देने का फ़ैसला किया है.

वाराणसी संसदीय सीट से भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उम्मीदवार अजय राय भी चुनाव लड़ रहे हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे क्लिक करें फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और क्लिक करें ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.