राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना

  • 11 अप्रैल 2014
राहुल गांधी और नरेंद्र मोदी

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी पर निजी हमला करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी महिलाओं की बात तो करते हैं, लेकिन पिछले कई चुनावों के दौरान उन्होंने अपनी पत्नी का नाम हलफ़नामे तक में नहीं लिखा.

राहुल गांधी ने जम्मू के डोडा में एक रैली को सम्बोधित करते हुए कहा, "उन्होंने पता नहीं कितने चुनाव लड़े हैं, लेकिन पहली बार लिखा है कि शादीशुदा हैं."

उन्होंने कहा कि मोदी दिल्ली में महिलाओं की इज्जत करने की बात कहते हैं, लेकिन उनकी पत्नी का नाम हलफ़नामे में नहीं पहुंचता है.

नरेंद्र मोदी ने वडोदरा सीट से चुनाव आयोग के समक्ष दाख़िल हलफ़नामे में खुद को शादीशुदा बताया था और पत्नी के तौर पर जशोदाबेन का जिक्र किया.

इस तरह मोदी ने पहली बार आधिकारिक तौर पर स्‍वीकार किया है कि जशोदाबेन उनकी पत्‍नी हैं. मोदी अभी तक पत्नी के बारे में जानकारी देने वाले कॉलम को खाली छोड़ देते थे.

'ये कैसा सम्मान?'

नरेंद्र मोदी

मोदी पर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा, "मुख्य मंत्री का पूरा फोकस और पूरी पुलिस का फोकस एक महिला की जासूसी पर रहता है. गुजरात की पुलिस एक महिला के पीछे पड़ जाती है क्योंकि मुख्यमंत्री जानना चाहते हैं कि क्या हो रहा है."

उन्होंने कहा, "उसके बाद दिल्ली में आकर महिलाओं के सम्मान की बात कही जाती है. ये किस तरह का सम्मान है?"

जवाब में भाजपा प्रवक्ता निर्मला सीतारमण ने कहा, "वो (मोदी) जितनी भी सूचनाएं पहले से देते आए हैं, वो एकदम सही हैं. उन्होंने इस विषय में कभी झूठ नहीं बोला है."

उन्होंने राहुल गांधी के बारे में कहा, "क्या वो बाल विवाह को सही ठहराना चाहते हैं. इस मामले में दोनों पक्षों ने एकदम स्पष्ट रूप से अपनी स्थिति बता दी है और मोदी जी के भाई ने भी इस बारे में सफाई दे दी है."

मोदी का जब विवाह हुआ था तो उनकी उम्र 17 साल थी, जबकि जशोदाबेन उस समय 15 साल की थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)