यौन संबंध पर महिलाओं को मिले फांसी: अबू आज़मी

  • 11 अप्रैल 2014
अबू आज़मी
समाजवादी पार्टी नेता अबू आज़मी के बयान की कड़ी आलोचना हो रही है.

बलात्कार पर समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव के विवादित बयान के बाद अब मुंबई में पार्टी नेता अबू आज़मी ने बलात्कार पर एक और बेहद विवादित बयान दिया है.

समाचार पत्र 'मिड डे' से बातचीत में अबू आज़मी ने कहा, “इस्लाम के अनुसार बलात्कार के दोषी को फांसी की सज़ा दी जानी चाहिए लेकिन इसके लिए महिलाओं को कुछ नहीं होता, सिर्फ़ पुरुषों को सज़ा दी जाती है. महिलाएं भी दोषी हैं.”

इससे पहले गुरुवार को समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह ने बलात्कार पर बोलते हुए कहा था कि लड़के कभी-कभी ग़लती कर देते हैं और बलात्कारियों को मौत की सज़ा नहीं मिलनी चाहिए. उन्होंने कहा था कि वो अगर सत्ता में आए तो बलात्कार के दोषियों को मौत की सज़ा दिए जाने वाले कानून के प्रावधान को खत्म कर देंगे.

राष्ट्रीय महिला आयोग ने मुलायम सिंह यादव के विवादित बयान पर उन्हें नोटिस भेजा है. चुनाव आयोग ने उनके बयान की सीडी मांगी है.

मुलायम सिंह यादव के विवादित बयान पर जब 'मिड डे' अख़बार के संवाददाता ने अबू आज़मी से प्रतिक्रिया मांगी तो अबू आज़मी ने कहा, “भारत में अगर कोई मर्ज़ी से यौन संबंध बनाता है तो वो सही है. लेकिन अगर वही व्यक्ति आपकी शिकायत कर देता है तो वो एक समस्या है. आजकल ऐसे बहुत सारे मामले देखने में आ रहे हैं. जब कोई किसी लड़की को छूता है तो लड़कियां शिकायत कर देती हैं. अगर नहीं छूता तब भी शिकायत कर देती हैं. ये एक समस्या हो जाती है और पुरुष की इज्ज़त मिट्टी में मिल जाती है. इच्छा या अनिच्छा से, अगर बलात्कार होता है तो इस्लाम के अनुसार सज़ा मिलनी चाहिए.”

अख़बार के अनुसार अबू आज़मी ने कहा, “इसका हल है कि अगर कोई महिला, चाहे वो शादीशुदा हो या नहीं, अगर किसी दूसरे पुरुष के कहे अनुसार चलती है तो उसे फांसी दे देनी चाहिए, चाहे इसमें उसकी मर्ज़ी शामिल हो या नहीं. दोनो को फांसी दे देनी चाहिए.”

'शर्मनाक'

फ़रहान आज़मी
पिता अबू आज़मी के बयान को बेटे फ़रहान ने 'शर्मनाक' बताया है.

अबू आज़मी के इस बयान पर बेटे फ़रहान और बहू पूर्व फ़िल्म अभिनेत्री आएशा टाकिया आज़मी ने आपत्ति जताई है.

अपने एक ट्विटर संदेश में फ़रहान आज़मी ने कहा, “मैंने अपने पिता से उनकी टिप्पणी पर बात की है. मेरे विचार में बलात्कार के विषय पर बिना किसी सफ़ाई के एक बात ज़रूर कही जानी चाहिए – बलात्कारी को फांसी दे दो.”

फ़रहान आज़मी ने अपने पिता के वक्तव्य को “आपत्तिजनक, निंदनीय, और शर्मनाक” बताया.

उधर फ़रहान की पत्नी और अबू आज़मी की बहू आएशा टाकिया ने अपने ट्विटर संदेश में लिखा, “अगर ये सही है कि मेरे ससुर ने ऐसा वक्तव्य दिया है तो मैं और फ़रहान बेहद शर्मिंदा हैं.”

आएशा ने कहा, “हमारी ऐसी सोच नहीं है. महिलाओं के बारे में ऐसा कहना असभ्य है.”

खामोशी

मुलायम सिंह यादव
राष्ट्रीय महिला आयोग ने मुलायम सिंह यादव को उनके विवादित बयान पर नोटिस जारी किया है.

इससे पहले मुलायम सिंह के विवादित बयान की कई हलकों में आलोचना हुई थी. कई महिला संगठनों ने मुलायम के बयान पर कड़ी आपत्ति जताई थी. मुलायम सिंह यादव के पुत्र और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने पिता के बयान पर कहा कि बलात्कार एक गंभीर विषय है और सरकार लोगों के विचारों को लेकर संवेदनशील है.

उधर समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में वर्ष 2012 दिसंबर गैंगरेप का शिकार हुई महिला के परिवार ने भी मुलायम सिंह यादव के वक्तव्य की आलोचना की है.

महिला के पिता ने कहा, “जब इस तरह की घटनाएं हर रोज़ घट रही हैं, ऐसे वक्तव्यों को स्वीकार नहीं किया जा सकता. अगर सत्ता में बैठे लोग इस तरह के वक्तव्य देंगे तो बेहद गलत होगा. मैं लोगों और महिलाओं से आग्रह करूंगा कि ऐसे बयान देने वाले नेताओं को न चुनें. अपने वक्तव्यों से मुलायम सिंह यादव अपराधियों को ऐसी घटनाओं को दोहराने के लिए दावत दे रहे हैं.”

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार