नरेंद्र मोदी: कंधा 18.5 इंच और सीना 43 इंच

  • 10 अप्रैल 2014
narendra_modi

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों में सबसे लोकप्रिय नेता बताया जा रहा है. ऐसे में लोगों में उनके बारे में जानने की उत्सुकता भी बढ़ी है.

चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं के फ़ैशन और स्टाइल की खूब चर्चा रहती है. बीबीसी ने नरेंद्र मोदी के कपड़े सिलने वाले कन्हैया चौहान से बात की.

कन्हैया बताते हैं कि मोदी जब आरएसएस के प्रचारक थे, तब से उनसे कपड़े सिलवा रहे हैं.

उन्होंने बताया, "मोदी हमारे बड़े भाई अमृत लाल चौहान के ख़ास दोस्त थे. साल 1976 के आसपास वह संघ के ज़िला प्रचारक थे. जितने भी संघ के प्रचारक हैं वे कुर्ता पायजामा ही पहनते हैं. मोदी जी भी कुर्ता-पायजामा ही सिलवाते थे."

कन्हैया की दुकान का नाम संगम टेलर्स है, जिसकी शुरुआत साल 1964 में गुजरात के पंचमहल ज़िले में हुई थी.

'मोदी स्टाइल'

उन्होंने बताया, "मोदी को आधी बांह का कुर्ता पहनना पसंद हैं. इस तरह का कुर्ता सिलवाने की सलाह अमृत लाल चौहान ने ही मोदी को दी थी. पहले आधी बांह के कुर्ते बहुत कम बनते थे, लेकिन आज ये कुर्ता गुजरात में काफ़ी लोकप्रिय हो गया है और इसे 'मोदी स्टाइल' के नाम से जाना जाता है."

इसके बाद मोदी की तैनाती दूसरी जगह हो गई लेकिन उनके कुर्ते संगम टेलर्स से ही सिलकर आते रहे.

कन्हैया ने बताया कि वह आज भी नरेंद्र मोदी के कुर्ते सिलते हैं, लेकिन अब मोदी ख़ुद नहीं आते हैं और फ़ोन से ही बता देते हैं कि उन्हें किस तरह का कुर्ता चाहिए.

हाल में मोदी ने उत्तर प्रदेश की एक रैली में कहा था कि गुजरात बनाने के लिए 56 इंच का सीना चाहिए. ऐसे में मोदी की कद-काठी के बारे में भी जिज्ञासा उठी.

कदकाठी

अब एक दर्जी से बेहतर किसी व्यक्ति की कदकाठी के बारे में कौन बता सकता है. इसलिए हमने कन्हैया से नरेंद्र मोदी की कदकाठी के बारे में पूछा.

कन्हैया के मुताबिक़ नरेंद्र मोदी के सीने का नाप 43 इंच, कंधा 18.5 इंच और कमर 41 इंच है.

उनके पायजामे की लंबाई 45 इंच, कमर 41 इंच, कमर का निचला हिस्सा 46, मोहरी 16.5 इंच है. इसी तरह कुर्ते की लंबाई 45 इंच, कंधा 18.5 इंच, बाहें 26.6 (फुल) और 15.5 (हाफ) और पेट 44 इंच है.

कन्हैया के मुताबिक़ पहले मोदी खादी या सूती कपड़े ही पसंद करते थे लेकिन अब लिनन के कुर्ते पायजामे भी पहनते हैं.

यह पूछने पर कि क्या नरेंद्र मोदी कभी सिलाई को लेकर नाराज़ भी हुए हैं, उन्होंने बताया कि उनके बड़े भाई के साथ मोदी का रिश्ता ऐसा था कि वह कभी नाराज़ नहीं हुए.

उन्होंने बताया कि मोदी पहले जब प्रचारक थे तो उन्हें सफेद और भगवा रंग अधिक पसंद था. "भगवा तो उन्हें आज भी पसंद है, लेकिन अब वह ज़्यादातर हल्के रंग के कुर्ते पसंद करते हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार