जसवंत सिंह के बेटे को भाजपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटाया

  • 10 अप्रैल 2014
जसवंत सिंह
जसवंत सिंह को पार्टी के उम्मीदवार के ख़िलाफ़ चुनाव लड़ने के कारण पार्टी से निकाला जा चुका है.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गुरुवार को पार्टी से निकाले जा चुके वरिष्ठ नेता जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटा दिया है.

भाजपा के महासचिव जेपी नड्डा ने गुरुवार को राजस्थान भाजपा के प्रमुख अशोक परनामी को पत्र लिखकर यह जानकारी दी.

मानवेंद्र सिंह को बाड़मेर से भाजपा के प्रत्याशी सोनाराम चौधरी के ख़िलाफ़ प्रचार करने के कारण पार्टी से निकाला गया है.

मानवेंद्र सिंह राजस्थान से विधायक हैं. उन पर आरोप था कि वह अपने पिता के पक्ष में प्रचार कर रहे हैं. उनके पिता जसवंत सिंह बाड़मेर से स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं.

भाजपा क्या कांग्रेस की परछाईं बन गई है: जसवंत

पीटीआई के अनुसार मानवेंद्र सिंह भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में होने वाली पार्टी बैठकों में शामिल नहीं हो रहे हैं.

भाजपा ने जसवंत सिंह को पार्टी से उस वक़्त निकाल दिया जब उन्होंने भाजपा प्रत्याशी के ख़िलाफ़ स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में नामांकन किया. भाजपा ने पूर्व कांग्रेस नेता सोनाराम चौधरी को टिकट दिया है.

राज्य इकाई की आपत्ति

भाजपा की राजस्थान इकाई ने मानवेंद्र सिंह के क्रियाकलाप का विरोध किया था. भाजपा के राज्य इकाई के प्रमुख अशोक परनामी ने पार्टी की केंद्रीय इकाई को पत्र लिखकर मानवेंद्र के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की मांग की थी.

जसवंत की बगावत के बाद बाड़मेर में कमल खिलेगा?

भाजपा के संविधान के अनुसार राज्य इकाई ऐसे किसी सदस्य को पार्टी से नहीं निकाल सकती जो राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य हो.

भाजपा की राज्य इकाई के प्रमुख के अनुरोध पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने मानवेंद्र को राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटाने का फ़ैसला किया. नड्डा ने कहा है कि अब इसके बाद राज्य इकाई मानवेंद्र के ख़िलाफ़ कार्रवाई कर सकती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार