गीतिका शर्मा खुदकुशीः गोपाल कांडा को जमानत

  • 4 मार्च 2014
गोपाल कांडा

दिल्ली की अदालत ने पूर्व एयर होस्टेस गीतिका शर्मा खुदकुशी मामले में मुख्य अभियुक्त और हरियाणा के पूर्व मंत्री गोपाल कांडा को जमानत दे दी है. लेकिन अदालत ने उनके दिल्ली से बाहर जाने पर पाबंदी लगा दी है.

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश यशवंत कुमार ने, गीतिका शर्मा खुदकुशी मामले में जेल में बंद, गोपाल कांडा को जमानत पर रिहा करने के आदेश जारी किए. उन्होंने कांडा को 5 लाख रुपए के निजी मुचलके और इसी राशि की दो ज़मानत जमा करने का निर्देश दिया.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक अदालत ने कांडा पर बिना इजाजत दिल्ली से बाहर जाने पर रोक लगा दी है और उन्हें पासपोर्ट जमा करने को कहा है. कांडा की जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस ने यह कहते हुए ज़मानत का विरोध किया कि उनके गवाहों को प्रभावित करने और सबूतों से छेड़छाड़ की संभावना है.

वैसे अभियोजन पक्ष के इस विरोध पर कांडा के वकील ने आपत्ति जताई और जज को आश्वासन दिया है कि अगर राहत मिलती है तो कांडा अदालत के निर्देशों का पालन करेंगे.

पत्नी की बीमारी

कांडा ने 17 फरवरी को अदालत में यह कहते हुए जमानत की अर्जी दी थी कि उन्हें अपनी बीमार पत्नी की देखभाल करने के लिए घर जाने दिया जाए. उन्होंने दलील दी कि वे पिछले 18 महीने से न्यायिक हिरासत में हैं और इस मामले की सुनवाई भी खत्म हो चुकी है.

कांडा के वकील ने अदालत को यह भी बताया कि दिल्ली उच्च न्यायालय यौन शोषण के आरोपों को खारिज कर चुकी है. वकील ने अदालत को यह भी बताया कि पहले कांडा की जमानत याचिका यह कहते हुए खारिज कर दी गई थी कि उनके खिलाफ यौन शोषण का गंभीर आरोप है.

गीतिका शर्मा
गीतिका ने पांच अगस्त 2012 को खुदकुशी की थी

कांडा ने 18 अगस्त 2012 को दिल्ली पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था, जबकि उनकी सहयोगी और मामले में सह अभियुक्त अरुणा चड्ढा को 8 अगस्त, 2012 को गिरफ्तार किया गया था.

दिल्ली उच्च न्यायालय ने हाल ही में चड्ढा को जमानत दी थी.

खुदकुशी

अदालत में पुलिस कर्मचारी और पीड़िता का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर सहित 8 प्रत्यक्षदर्शियों के बयान दर्ज होने के बाद पिछले साल 27 मई को मामले की सुनवाई शुरू हुई थी.

गीतिका ने पांच अगस्त 2012 को खुदकुशी की थी. उनका शव अशोक विहार स्थित घर पर पंखे से लटका हुआ पाया गया था. सुसाइड नोट में गीतिका ने कथित रूप से गोपाल कांडा और अरुणा चड्ढा का नाम लिया था.

कांडा एमडीएलआर एयरलाइंस के मालिक थे, जहां गीतिका बतौर एयर होस्टेस काम करती थीं.

दोनों अभियुक्तों पर पीड़िता की गरिमा को ठेस पहुंचाने और उनके साथ धोखा करने का आरोप लगाया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार