अरविंद केजरीवाल ने धरना ख़त्म किया

  • 21 जनवरी 2014
अरविंद केरजीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपना धरना ख़त्म करने का फ़ैसला किया है. दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग की अपील के बाद उन्होंने ये फ़ैसला किया है.

केजरीवाल कुछ पुलिसकर्मियों को निलंबित करने की मांग कर रहे थे. लेकिन नजीब जंग ने इन पुलिसकर्मियों को छुट्टी पर भेजने का फ़ैसला किया.

केजरीवाल ने कहा कि हालाँकि उप राज्यपाल महोदय ने उनकी मांगे आंशिक रूप से मानी है, लेकिन उनकी अपील का सम्मान करते हुए वे अपना धरना समाप्त करते हैं.

उन्होंने कहा, "आज दिल्ली के लोगों की जीत हुई है. दिल्ली पुलिस की जवाबदेही तय करने के लिए वे कोशिश करते रहेंगे."

पिछले दिनों दिल्ली के पहाड़गंज इलाक़े में डेनमार्क की एक महिला पर्यटक के साथ बलात्कार हुआ था, अरविंद केजरीवाल इस इलाक़े के पुलिस अधिकारी को निलंबित करने की मांग कर रहे थे.

केजरीवाल की दूसरी मांग दिल्ली के मालवीय नगर इलाक़े से जुड़ी हुई थी. पिछले दिनों इस इलाक़े के खिड़की एक्सटेंशन में दिल्ली के क़ानून मंत्री सोमनाथ भारती की पुलिस अधिकारियों से झड़प हुई थी.

सोमनाथ भारती इस इलाक़े में वेश्यावृत्ति और नशीली दवाओं के धंधे का आरोप लगाकर एक घर पर छापेमारी की मांग कर रहे थे. इसी को लेकर उनकी और पुलिस अधिकारियों के बीच काफ़ी कहासुनी हुई थी.

केजरीवाल इस इलाक़े के पुलिस अधिकारियों को भी निलंबित करने की मांग कर रहे थे.

एक और मामला दिल्ली के सागरपुर इलाक़े से जुड़ा हुआ है, जहाँ एक महिला को जलाकर मारने की कोशिश करने का आरोप है. केजरीवाल सरकार का आरोप है कि इलाक़े की पुलिस ज़िम्मेदार लोगों को गिरफ़्तार नहीं कर रही है. लेकिन केजरीवाल का कहना है कि पुलिस ने यहाँ गिरफ़्तारियाँ की है.

धरना

प्रदर्शन

सोमवार से शुरू हुआ उनका धरना मंगलवार दोपहर बाद काफ़ी तनावपूर्ण हो गया था. आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं और दिल्ली पुलिस के जवानों के बीच झड़प हुई और कई लोग घायल भी हुए.

दरअसल आप के कार्यकर्ता बैरिकेड्स तोड़कर धरना स्थल पर पहुँचने की कोशिश कर रहे थे. दिल्ली पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की.

आप कार्यकर्ताओं का आरोप है कि दिल्ली पुलिस ने उन्हें बेवजह पीटा, जबकि पुलिस का कहना है कि उन्होंने तो बस उन्हें बैरिकेड तोड़ने से रोकने की कोशिश की.

इस बीच एक टीवी चैनल की महिला पत्रकार और एक अख़बार के युवा पत्रकार के साथ मारपीट का भी आरोप लगा है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली पुलिस के चार अधिकारियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की मांग को लेकर सोमवार सुबह से रेल भवन के पास धरना दे रहे थे.

सोमवार को केजरीवाल गृह मंत्रालय के बाहर धरना देने के लिए जा रहे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें रेल भवन के पास रोक दिया था. फिर केजरीवाल वहीं धरने पर बैठ गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)