पर्यटक से कथित बलात्कार मामले में गिरफ़्तारी

  • 15 जनवरी 2014
थाना पहाड़गंज, नई दिल्ली
इस मामले में नई दिल्ली के पहाड़गंज थाने में एफ़आईआर दर्ज करवाई गई है.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मंगलवार को डेनमार्क की एक महिला के साथ कथित बलात्कार के मामले पुलिस ने दो लोगों को गिरफ़्तार किया है.

पुलिस के मुताबिक 25 वर्षीय महेन्दर उर्फ़ गांजा के पास से एक आई पॉड, ईयर प्लग, नोकिया मोबाइल फोन और 800 रुपए नकद मिला है. गिरफ़्तार किए गए दूसरे व्यक्ति राजा के पास से चश्मा रखने का केस और एक हज़ार रुपए बरामद हुए हैं.

स्पेशल कमिश्नर दीपक मिश्रा ने बीबीसी से इन गिरफ़्तारियों की पुष्टि की लेकिन मामले में शामिल बाकी लोगों के बारे में जानकारी देने से इंकार कर दिया.

दीपक मिश्रा ने कहा, "दो आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया गया है. मामले में आठ लोग शामिल थे लेकिन ये लोग कौन हैं और कहां हैं, इसके बारे में मैं मीडिया से जानकारी नहीं बांटना चाहता."

उन्होंने कहा कि बाकी आरोपियों को गिरफ़्तार करने के लिए दिल्ली पुलिस ''मुनासिब'' कदम उठा रही है.

ये पूछे जाने पर कि क्या इस मामले के बाद पुलिस ने सुरक्षा कुछ और कड़ी की है, दीपक मिश्रा ने कहा, "सुरक्षा के वही बंदोबस्त हैं जो पहले थे. हमने पहले से ही बहुत सारे निर्देश लिए हैं. लेकिन किसी भी समाज को आप इस तरह के अपराध से मुक्त नहीं कर के रख सकते."

मामला

डेनमार्क की 51 साल की महिला पर्यटक के साथ दिल्ली के केंद्रीय इलाके में कथित बलात्कार हुआ था.

पुलिस के अनुसार कनॉट प्लेस से पहाड़गंज जा रही यह महिला रास्ता भटक गई थीं. उन्होंने कुछ लोगों से मदद मांगी, इसके बाद वहाँ मौजूद कुछ लोगों ने पहले उन्हें लूटा और फिर बलात्कार किया.

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत ने बीबीसी को बताया, "वे पहाड़गंज में एक होटल में ठहरी थीं. देर रात वे लौट रही थीं जब रास्ता भटक गईं और पहले कुछ लोगों ने उन्हें लूटा और फिर बलात्कार हुआ."

राजन भगत ने आगे कहा, "जब वे होटल में पहुँचीं तो उन्होंने होटल के मैनेजर को बताया और फिर पुलिस ने एफ़आईआर दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी."

राजन भगत के मुताबिक इस घटना में निश्चित तौर पर एक से ज़्यादा लोग शामिल थे.

बीबीसी संवाददाता दिलनवाज़ पाशा ने पुलिस सूत्रों के हवाले से बताया कि पुलिस ने इलाके से कई लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है.

कुछ पुलिस सूत्रों ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि महिला का चाकू की नोक पर बलात्कार किया गया.

रिक्शा चालक

हिरासत में लिए गए लोग, पहाड़गंज थाना, नई दिल्ली
कथित बलात्कार मामले में हिरासत में लिए गए लोग.

बीबीसी संवाददाता के अनुसार पुलिस हिरासत में लिए गए अधिकतर लोग रिक्शा चालक हैं.

एक स्थानीय टेंट हाऊस के मालिक ने अपना नाम न बताने की शर्त पर बीबीसी को बताया कि उनके कुछ कर्मचारियों को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया है. हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें नहीं पता कि उनके कर्मचारियों को क्यों हिरासत में लिया गया है.

दिल्ली होटल महासंघ के महासचिव अरुण गुप्ता ने बीबीसी को बताया कि इस गैंगरेप के बाद होटल व्यवसायी चिंतित हैं. अरुण गुप्ता के मुताबिक जिस 'स्टेट एंट्री रोड' पर यह घटना हुई है उसका कुछ इलाक़ा कनॉट प्लेस तो कुछ पहाड़गंज में आता हैं.

अरुण गुप्ता के मुताबिक पर्यटकों की सहायता के लिए बनी दिल्ली पुलिस की विशेष पिकेट घटनास्थल के बेहद नज़दीक है.

समाचार एजेंसियों के अनुसार यह महिला बीते एक सप्ताह से भारत में थीं. वह आगरा गई हुई थीं और मंगलवार को ही दिल्ली पहुंची थीं.

पीड़ित भारत से बाहर गईं

हालांकि भारत स्थित डेनमार्क के दूतावास ने इस मामले में अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. पुलिस प्रवक्ता राजन भगत ने बताया कि महिला अब देश में नहीं हैं.

उन्होंने बीबीसी को बताया, "वे अब देश में नहीं हैं. उनकी फ़्लाइट पहले से ही बुक की गई थी और निर्धारित समय पर आज वे देश से बाहर चली गई हैं."

इससे पहले पोलैंड की एक महिला के साथ भी टैक्सी चालक के बलात्कार किए जाने का मामला कुछ ही दिन पहले राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सामने आया था.

पिछले ही महीने भारत में 16 दिसंबर, 2012 में चलती बस में सामूहिक बलात्कार की घटना को एक साल पूरा हुआ था. इस हादसे के बाद देश भर में महिलाओं की सुरक्षा का मसला जोर-शोर से उठाया गया था.

लेकिन इस दौरान विदेशी महिलाओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ और बलात्कार की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं.

हिमाचल प्रदेश में जुलाई में एक अमरीकी पर्यटक के साथ सामूहिक बलात्कार के मामले में बीते ही महीने स्थानीय अदालत ने तीन नेपाली लोगों को 20-20 साल की सज़ा सुनाई थी.

वहीं बीते साल जुलाई में मध्यप्रदेश की एक अदालत ने स्विट्ज़रलैंड की 39 साल की महिला के साथ बलात्कार के मामले में छह लोगों को उम्र कैद की सज़ा सुनाई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)