शराब और पैसे पर नज़र रखेंगे 'आप' के कैमरे

  • 3 दिसंबर 2013

दिल्ली विधानसभा चुनाव में विरोधी पार्टियों की ओर से मतदाताओं में पैसे और शराब बांटने पर नज़र रखने के लिए आम आदमी पार्टी (आप) ने दिल्ली की झुग्गी-झोपड़ियों और अन्य संवेदनशील इलाकों में उच्च क्षमता वाले दो हज़ार ज़ासूसी कैमरे लगाए हैं.

इन इलाकों में पैसे और शराब बांट कर मतदाताओं को प्रभावित करने का काम बहुत पहले से होता आ रहा है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ आम आदमी पार्टी का कहना है कि उसे इस काम में सफलता भी मिली है.

पार्टी के मुताबिक़ स्थानीय लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं ने बादली ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में कुछ लोगों को रात में कथित तौर पर शराब की बोतलें बांटते हुए पकड़ा.

पुरानी परंपरा

आम आदमी पार्टी के एक नेता ने पीटीआई को बताया, ''हमने दो हज़ार जासूसी कैमरे ख़रीद कर झुग्गी-झोपड़ियों में कई स्थानों पर लगाए हैं. इसका मक़सद अन्य पार्टियों की ओर से शराब की बोतलें और पैसे बांटकर वोट खरीदने की पुरानी परंपरा पर रोक लगाना है.''

मतदाताओं को ख़रीद-फरोख़्त से बचाने के लिए आम आदमी पार्टी ने मतदाताओं को जागरूक करने का अभियान चलाने के साथ-साथ विशेष तौर पर प्रशिक्षित अपने स्वयं सेवकों को भी तैनात किया है.

पीटीआई के अनुसार आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा कि उनकी पार्टी ने ऐसे संवेदनशील इलाकों में किसी भी तरह की धांधली की जासूसी करने और उसकी रिकॉर्डिंग करने की योजना बनाई है.

चुनाव आयोग में शिकायत

उन्होंने कहा कि इन कैमरों की रिकॉर्डिंग को चुनाव आयोग में जमा कर शिकायत दर्ज कराई जाएगी.

मतदाताओं के बीच 'आप' के संयोजक अरविंद केजरीवाल

उन्होंने कहा, ''आज हमें पहली सफलता हाथ लगी. बादली इलाक़े में स्थानीय लोगों और स्वयंसेवकों ने शराब की एक बड़ी खेप पकड़ी, जो रात में मतदाताओं में बांटने के लिए एक वैन में भरकर लाई गई थी.''

उन्होंने बताया कि इसकी रिकॉर्डिंग चुनाव आयोग में जमा कराई गई है.

आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि उनकी पार्टी न तो पैसे और शराब के दम पर वोटों को खरीदेगी और न किसी और को ऐसा करने देगी.

पार्टी ने संवेदनशील इलाक़ों में नज़र रखने की योजना बनाई है. इसके लिए उसने इन इलाकों की एक विस्तृत सूची भी बनाई है.

इन संवेदनशील इलाक़ों में पार्टी कड़ी नज़र रखेगी. इस सूची में झुग्गी-झोपड़ी, ग्रामीण इलाक़े, पुनर्वास कॉलोनियां और शहर की सीमा से लगे इलाक़े शामिल हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार