BBC navigation

तरुण तेजपाल को गिरफ़्तारी से राहत नहीं

 बुधवार, 27 नवंबर, 2013 को 17:43 IST तक के समाचार
तरुण तेजपाल

तहलका के संपादक रहे तरुण तेजपाल को गिरफ़्तारी से राहत नहीं मिल पाई है. हाईकोर्ट ने कहा है कि वो तेजपाल की ज़मानत की अर्ज़ी पर शुक्रवार को फ़ैसला देगा.

तेजपाल ने गिरफ़्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट में अर्ज़ी दी है.

गोवा सरकार के वकील मुकुल रोहतगी ने बीबीसी से कहा कि तरुण तेजपाल को कोई समन नहीं भेजा गया है.

उन्होंने कहा "मुझे इस बारे में जानकारी अख़बारों से मिली थी और मैंने यही बात हाईकोर्ट को बताई. तेजपाल को गिरफ़्तारी से राहत नहीं मिली है."

वहीं गोवा पुलिस ने कहा है कि इस मामले में पीड़ित महिला का बयान सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दर्ज किया जा रहा है.

इस धारा के तहत दर्ज बयान अदालत में सबूत के तौर पर मान्य होते हैं.

'दबाव नहीं'

मनोहर पर्रिकर

गोवा के मुख्यमंत्री का कहना है कि पुलिस बगैर किसी दबाव के काम कर रही है.

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है कि तहलका पत्रिका के संपादक रहे तरुण तेजपाल के ख़िलाफ़ केस में पुलिस बगैर किसी दबाव के काम कर रही है.

उन्होंने कहा, "ये घटना तो बीजेपी सरकार ने नहीं की है, उसमें तो बीजेपी सरकार शामिल नहीं है."

मनोहर पर्रिकर ने ये भी कहा है कि पुलिस न तो मामले में तेज़ी दिखा रही है और न ही सुस्ती, पुलिस अपनी गति से काम कर रही है.

मनोहर पर्रिकर ने कहा, "जांच वाकई तब प्रगति नहीं कर सकती अगर सारी रणनीति बता दी जाए."

उन्होंने इस से भी इनकार किया कि इस मामले की सुनवाई के लिए विशेष अदालत की ज़रूरत है.

पर्रिकर ने कहा, "गोवा में अदालतें फ़ास्ट ट्रैक ही हैं कोई विशेष अदालत बनाने की ज़रूरत नहीं है."

कपिल सिब्बल

केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने इन आरोपों से इनकार किया है कि उनके पास तहलका के कोई शेयर हैं.

उन्होंने ये भी कहा कि "तेजपाल को कुछ वकील मंत्री सलाह दे रहे हैं."

कांग्रेस-बीजेपी में तकरार

हालांकि पर्रिकर ने भाजपा नेता सुषमा स्वराज के बयान पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

पर्रिकर ने कहा, "मैं सुषमा स्वराज जी ने जो कहा है उस पर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा, मैं इस राज्य का मुख्यमंत्री हूं. उनके बयान से मेरी सरकार प्रभावित नहीं होती."

भाजपा नेता सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया था, "एक केंद्रीय मंत्री जो तहलका के संस्थापक और संरक्षक हैं वो तरुण तेजपाल को बचा रहे हैं."

इस पूरे मामले पर केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा है कि उनके पास तहलका का कोई शेयर नहीं है और न ही तेजपाल की मां उनकी बहन है.

उन्होंने कहा, "बहस मुद्दों पर होनी चाहिए, झूठ नहीं फैलाना चाहिए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें यहां क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.