बुटालिया तेजपाल मामले में जांच समिति से अलग

  • 26 नवंबर 2013

महिला अधिकारों के लिए काम करती रहीं प्रकाशक उर्वशी बुटालिया ने तरुण तेजपाल यौन हिंसा मामले में गठित शिकायत जांच समिति से ख़ुद को अलग कर लिया है.

फ़ेसबुक पर उनके प्रकाशन ज़ुबान के पेज़ पर कहा गया, ''ज़ुबान की निदेशक उर्वशी बुटालिया विशाखा गाइडलाइंस के आधार पर बनाई उस कमेटी में नहीं हैं, जो तहलका स्थापित करने जा रहा है.''

फ़ेसबुक पेज़ पर आगे कहा गया, ''बुटालिया इस मामले से संबंधित किसी कमेटी में नहीं हैं."

पेज़ के अनुसार, 22 नवंबर को उर्वशी ने तहलकाकी प्रबंध संपादक शोमा चौधरी को लिखित तौर पर सूचित किया कि चूंकि क़ानूनी जांच कार्यवाही शुरू हो चुकी है लिहाजा जांच समिति का अब कोई औचित्य नहीं.

तहलका ने पिछले हफ़्ते इस मामले के सामने आने के बाद आंतरिक जांच पैनल बनाकर बुटालिया को इसका अध्यक्ष नियुक्त किया था.

गोवा पुलिस की जांच

गोवा पुलिस ने इस मामले में जांच कार्यवाही जारी रखी है.

दिल्ली में तहलका कार्यालय से तरुण तेजपाल के कम्प्यूटर की हार्ड डिस्क और दस्तावेज़ ज़ब्त करने के बाद गोवा पुलिस मुंबई में है. जहां वह पीड़ित शिकायतकर्ता का बयान दर्ज करेगी.

मंगलवार को बीबीसी से बातचीत में गोवा पुलिस के महानिदेशक (डीजीपी) किशन कुमार ने बताया कि पुलिस शिकायतकर्ता से बात कर रही है.

माना जा रहा है कि मुंबई में गोवा पुलिस शिकायतकर्ता का बयान रिकॉर्ड करेगी. हालांकि डीजीपी ने इस बारे में और ज़्यादा कुछ कहने से मना किया. उन्होंने कहा, "हम अपना काम कर रहे हैं. जो कुछ होगा, उसकी जानकारी देते रहेंगे."

क़ानूनी प्रक्रिया के अनुसार पुलिस तहलका के संपादक तरुण तेजपाल से तभी पूछताछ कर सकती है जब पीड़ित का बयान मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज हो जाए.

तहलका प्रबंधन ने पुलिस और क़ानूनी कार्यवाही में हर तरह के सहयोग की बात कही है. तेजपाल मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट में यौन हिंसा मामले में अग्रिम जमानत के लिए अपील कर सकते हैं.

इस बारे में गोवा पुलिस के डीजीपी ने कहा, ''हम पूरे मामले पर नज़र रखे हुए हैं, अगर वह कोर्ट जाते हैं तो हम देखेंगे कि क्या कर सकते हैं.''

इस्तीफ़ा

पीड़ित ने सोमवार को तहलका मैगज़ीन से इस्तीफ़ा दे दिया. उनका कहना है कि मौजूदा घटनाक्रम में संस्थान में काम करना संभव नहीं है.

इस इस्तीफ़े का मतलब ये भी है कि वह गोवा पुलिस की मौजूदा जांच कार्यवाही में सहयोग करना चाहेंगी.

इस मामले में तहलका के दो और लोगों ने भी इस्तीफ़ा दे दिया है.

तेजपाल पर दो सप्ताह पहले गोवा में तहलका के 'थिंक फेस्टिवल' के दौरान मैगज़ीन की एक महिला पत्रकार के साथ यौन हिंसा का आरोप है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार