'ज़हरीले लोगों' की पार्टी है बीजेपीः सोनिया गाँधी

  • 24 नवंबर 2013
सोनिया गाँधी
यूपीए अध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी के पास विकास के लिए कोई योजना नहीं है.

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने राजस्थान और मध्यप्रदेश की चुनावी रैलियों में भारतीय जनता पार्टी पर एक बार फिर निशाना साधा है. सोनिया ने कहा कि बीजेपी 'जह़रीले लोगों' की पार्टी है जो सिर्फ़ अफ़वाहें फैला रही है.

सोनिया ने कहा, "बीजेपी अफ़वाहें फैला रही है कि राजस्थान की प्रमुख योजना 'मुफ़्त दवा योजना' की दवाओं में ज़हर है. तथ्य यह है कि जो पार्टी दवाओं में ज़हर होने की अफ़वाह फैला रही है वह ज़हरीले लोगों की पार्टी है."

सत्ता का लालच

राजस्थान में एक दिसंबर को चुनाव होने हैं. सोनिया ने आरोप लगाया कि बीजेपी झूठ को सच बताकर पेश कर रही है. उन्होंने कहा कि बेजेपी के पास कुछ भी ठोस नहीं है सिवाए सत्ता में आने के लालच के.

उमेद स्टेडियम में करीब 12 हज़ार लोगों की भीड़ को संबोधित करते हुए सोनिया गाँधी ने कहा कि बीजेपी को तरक्की नहीं दिखती सिर्फ़ अंधेरा ही दिखता है.

उन्होंने कहा, "बीजेपी आलोचना करती रहेगी, लेकिन कांग्रेस की सरकार जनता के लिए अपने विकास कार्य जारी रखेगी." सोनिया ने यूपीए की मुख्य योजनाओँ को क्रांतिकारी बताते हुए सवाल किया, "बीजेपी ने अपने शासनकाल में क्यों जनहित की ऐसी योजनाएं लागू नहीं की थीं."

ग़रीबी क्यों नहीं हटी?

नरेंद्र मोदी
मोदी ने कांग्रेस पर ग़रीबों के लिए कुछ न करने के आरोप लगाए.

वहीं भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश मंदसौर की अपनी चुनावी रैली में कांग्रेस पर ग़रीबों के लिए कुछ न करने का आरोप लगाया. मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने लोगों की गरीबी या अशिक्षा दूर करने के लिए इसलिए प्रयास नहीं किए क्योंकि उसे सत्ता जाने का डर है. मोदी ने कहा, "कांग्रेस जानती है कि जैसे ही जनता जागरुक होगी, उसकी कुर्सी ख़तरे में पड़ जाएगी."

मध्यप्रदेश में शनिवार को चुनाव प्रचार का आख़िरी दिन था. वहाँ 25 नवंबर को वोट पड़ेंगे.

नेहरू-गाँधी परिवार पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, "क्यों एक परिवार की चार पीढ़ियाँ ग़रीबी पर एक ही बात दोहरा रही हैं और ग़रीबों के लिए कुछ नहीं कर रही हैं."

मोदी ने कहा, "जब भी चुनाव आते हैं, कांग्रेस ग़रीबी की बात करती है, लेकिन इसे दूर करने के लिए कुछ नहीं करती."

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ़ करते हुए मोदी ने कहा कि उन्होंने विकास के कई कार्यक्रम लागू कर राज्य से बीमारू होने का तमगा हटा दिया है. मोदी ने कहा, "मैं गुजरात की बात नहीं करूंगा. दो सरकारें हैं, एक मध्य प्रदेश में और दूसरी राजस्थान में, दोनों के कामों में फ़र्क देखिए और तय कीजिए की किसे वोट देना हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)