BBC navigation

धनंजय सिंह की एक अन्य नौकरानी अस्पताल में भर्ती

 गुरुवार, 7 नवंबर, 2013 को 15:48 IST तक के समाचार
सांसद धनंजय सिंह की पत्नी जागृति सिंह

सांसद धनंजय सिंह की पत्नी जागृति सिंह घरेलू सहायिका के मौत के मामले में मुख्य संदिग्ध हैं.

उत्तर प्रदेश के जौनपुर से बसपा के सांसद धनंजय सिंह और उनकी पत्नी के लिए काम करने वाली एक अन्य घरेलू सहायिका का अस्पताल में इलाज हो रहा है.

दिल्ली पुलिस के अनुसार इस नौकरानी को भी प्रताड़ित किए जाने का संदेह है.

इस नौकरानी को मंगलवार रात दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया.

अस्पतााल के डॉक्टर सुनील सक्सेना ने बीबीसी के बताया, "37 साल की इस महिला के शरीर पर जलने और पिटाई के निशान हैं, उनका इलाज तीन विभाग कर रहे हैं, हालांकि अब वो ख़तरे से बाहर है."

बुधवार को क्लिक करें धनंजय सिंह और उनकी पत्नी को एक नौकरानी की गंभीर चोटों के बाद हुई मौत के मामले में गिरफ़्तार कर लिया गया है.

पुलिस का कहना है कि उत्तर प्रदेश के जौनपुर से सांसद धनंजय सिंह की पत्नी इस हत्या की मुख्य संदिग्ध हैं.

सांसद ने इस मौत में किसी तरह की भूमिका से इनकार किया है. उनकी पत्नी ने इस मामले में कोई बयान नहीं दिया है.

धनंजय सिंह ने कहा कि वो इस घटना के पहले से ही अपनी पत्नी से तलाक़ लेने की प्रक्रिया शुरू कर चुके थे.

समाचार चैनलों के अनुसार सांसद के घर पर काम करने वाले घरेलू नौकर-नौकरानी अक्सर छड़ी से मारपीट और घर में बंद किए जाने का आरोप लगाते रहे हैं.

पुलिस का कहना है कि अस्पताल में भर्ती नौकरानी पिछले साल नवंबर से सांसद के घर पर काम कर रही थीं. उनके शरीर पर चोट के निशान हैं.

अमानवीय व्यवहार

धनंजय सिंह

धनंजय सिंह उत्तर प्रदेश के जौनपुर से बसपा से सांसद हैं.

एक अज्ञात पुलिसकर्मी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि यह नौकरानी पुलिस को धनंजय सिहं के साले के घर पर मिली थी.

पुलिसकर्मी के अनुसार, "उसे अमानवीय तरीक़े से पीटा गया था और वो ठीक से बैठ भी नहीं पा रही थी."

पुलिस ने बताया कि नौकरानी का स्थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा है.

इस घटना से कई महीनों पहले दिल्ली ही के एक पॉश इलाक़े में स्थित एक घर से एक किशोरी को पुलिस और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने मुक्त कराया था.

उस किशोरी ने पुलिस को बताया कि उस पर चाक़ू से हमला किया गया था और उसके ऊपर कुत्ते छोड़ दिए गए थे.

इस किशोरी के नियोक्ता एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करते हैं. उन पर मारपीट और ग़ैर-क़ानूनी रूप से बंधक बनाने का मामला दर्जा किया गया था.

अप्रैल, 2012 में पुलिस ने एक धनी डॉक्टर दंपति को गिफ़्तार किया था. डॉक्टर दंपति ने कथित रूप से अपनी 13 वर्षीय नौकरानी को घर में बंद कर दिया था जबकि वो छुट्टी मनाने के लिए बाहर गए थे.

उनके पड़ोसियों ने जब बॉलकनी में लड़की के रोने की आवाज़ सुनी तो अग्निशमन कर्मियों को सूचित किया और फिर उसे घर से निकाला गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें यहां क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.