BBC navigation

पांच राज्यों में चुनाव: आंकड़ों का आईना

 शनिवार, 9 नवंबर, 2013 को 18:21 IST तक के समाचार
पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव

पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों पर सबकी नज़रें टिकी हैं. बेशक ये चुनाव पांच राज्यों में सत्ता का फैसला तो करेंगे, साथ ही कुछ विश्लेषक ये भी मान रहे हैं कि ये चुनाव इसलिए भी अहम है क्योंकि इनसे आम चुनावों से पहले जनता के मूड की झलक मिल सकती है.

आइए डालते हैं एक नज़र इन राज्यों पर:

दिल्ली

दिल्ली में विधासभा चुनाव

दिल्ली में कांग्रेस पिछले 15 साल से सत्ता में है और सरकार की कमान मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के हाथों में रही है.

कांग्रेस जहां चौथी बार भी दिल्ली का क़िला फ़तह करने के दावे कर रही है, वहीं भाजपा ने डॉक्टर हर्षवर्धन को मुख्यमंत्री पद का उम्मीवादवार बना कर बदलाव का नारा बुलंद किया है.

दिल्ली में इस बार सामाजिक कार्यकर्ता से राजनेता बने अरविंद केजरीवाल को तीसरी ताकत के तौर पर देखा जा रहा है. हालांकि उन्हें कितनी सीटें मिलेंगी ये तो नतीजे ही बताएंगे लेकिन उनके चलते दिल्ली का दोतरफा मुकाबला त्रिकोणीय जरूर हो गया है.

जनसंख्या: 16,787,941

मतदाताओं की संख्या: 1,15,07113

विधानसभा सीटों की संख्या: 70

सत्ताधारी पार्टी: कांग्रेस

किसके पास कितनी सीटें: कांग्रेस: 41, बीजेपी: 24, बीएसपी: 2, अन्य और निर्दलीय: 3

पिछले चुनाव में वोटों में हिस्सेदारी: कांग्रेस: 40.31, प्रतिशत बीजेपी: 36.34, प्रतिशत, बीएसपी: 14.05 प्रतिशत

मतदान: चार दिसंबर 2013

मतगणना: 08 दिसंबर 2013

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में चुनाव

मध्य प्रदेश वो राज्य है जिसे मौजूदा समय में भाजपा के गढ़ के तौर पर जाना जाता है.

यहां सरकार की कमान 2005 से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हाथों में है. अपनी कई कल्याणकारी योजनाओं के कारण शिवराज सिंह ख़ासे लोकप्रिय है.

दूसरी तरफ कांग्रेस 2003 से ही सत्ता से बाहर है. इस बार कांग्रेस ने विधानसभा चुनावों में चुनाव अभियान समिति की जिम्मेदारी युवा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को सौंपी है.

लेकिन कांग्रेस की अंदरूनी गुटबाजी को उनकी राह का सबसे बड़ा रोड़ा माना जा रहा है.

जनसंख्या: 72,626,809

मतदाताओं की संख्या: 4,64,57724

विधानसभा सीटों की संख्या: 230

सत्ताधारी पार्टी: भारतीय जनता पार्टी

किसके पास कितनी सीटें: बीजेपी: 142, कांग्रेस: 71, बीएसपी: 7, समाजवादी पार्टी: 1, अन्य और निर्दलीय: 8

पिछले चुनाव में वोटों में हिस्सेदारी: बीजेपी: 37.64 प्रतिशत, कांग्रेस: 32.32 प्रतिशत, बीएसपी: 8.97 प्रतिशत, समाजवादी पार्टी: 1.99 प्रतिशत

मतदान: 25 नवंबर 2013

मतगणना: 08 दिसंबर 2013

छत्तीसगढ़

13 साल पहले बनाए गए छत्तीसगढ़ में बीते 10 साल से रमन सिंह भारतीय जनता पार्टी की सरकार चला रहे हैं.

नक्सल हिंसा से प्रभावित राज्य में रमन सिंह के सामने आंतरिक सुरक्षा एक बड़ी चुनौती रही है. बावजूद इसके वो खासे लोकप्रिय माने जाते हैं.

वहीं राज्य के गठन के बाद शुरू के तीन साल तक सरकार चलाने वाली कांग्रेस खींचतान का शिकार नजर आती है. इस साल मई में राज्य में एक बड़े नक्सली हमले में कांग्रेस के कई बड़े नेता मारे गए.

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने चुनाव का बहिष्कार किया है. ऐसे में चुनावों के लिए सख्त सुरक्षा इंतज़ाम किए गए हैं.

जनसंख्या: 25,545,198

मतदाताओं की संख्या: 1,67,96174

विधानसभा सीटों की संख्या: 90

सत्ताधारी पार्टी: भारतीय जनता पार्टी

किसके पास कितनी सीटें: बीजेपी- 49, कांग्रेस- 38, बीएसपी- 02

पिछले चुनाव में वोटों में हिस्सेदारी: बीजेपी- 40.33 प्रतिशत, कांग्रेस- 38.63 प्रतिशत, बीएसपी- 6.11 प्रतिशत.

मतदान: 11 और 19 नवंबर

मतगणना: 08 दिसंबर 2013

राजस्थान

राजस्थान में चुनाव

राजस्थान में सत्ताधारी कांग्रेस और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी के बीच मुकाबला है. हाल के कुछ विधानसभा चुनावों को देखा जाए तो दोनों पार्टियां बारी बारी से सत्ता संभालती रही हैं.

अशोक गहलोत से पहले भाजपा की वसुंधरा राजे मुख्यमंत्री थी और उनसे पहले राज्य की कमान अशोक गहलोत के ही हाथ में थी.

अब नज़रें इस बात पर टिकी है कि राज्य की जनता अशोक गहलोत में फिर विश्वास जताती है या फिर वसुंधरा राजे की सत्ता में वापसी होगी.

जनसंख्या: 68,548,437

मतदाताओं की संख्या: 4,06,08056

विधानसभा सीटों की संख्या: 200

सत्ताधारी पार्टी: कांग्रेस

किसके पास कितनी सीटें: कांग्रेस- 102, बीजेपी- 79, सीपीएम- 3, अन्य निर्दलीय- 16

पिछले चुनाव में वोटों में हिस्सेदारी: कांग्रेस- 36.82 प्रतिशत, बीजेपी- 34.27 प्रतिशत, बीएसपी- 7.60 प्रतिशत, सीपीएम- 1.62 प्रतिशत

मतदान: एक दिसंबर 2013

मतगणना: 08 दिसंबर 2013

मिज़ोरम

मिज़ोरम में चुनाव

पूर्वोत्तर राज्य मिज़ोरम में कांग्रेस के सामने अपनी सरकार बचाने की चुनौती है. उसका मुकाबला मिज़ो नैशनल फ्रंट के नेता ज़ोरामथंगा से है जो तीन पार्टियों का गठबंधन बनाकर चुनावी मैदान में उतरे हैं.

ज़ोरामथंगा राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं और फिर सत्ता की दौड़ में शामिल हैं. उनके सामने मुख्यमंत्री ललथनहावला हैं जो चार बार मुख्यमंत्री पद संभाल चुके हैं.

दिलचस्प बात ये है इन दोनों नेताओं की शुरुआत एमएनएफ़ से हुई थे, लेकिन वो प्रतिद्वंद्वी हैं.

जनसंख्या: 1,097,206

मतदाताओं की संख्या: 6,86305

विधानसभा सीटों की संख्या: 40

सत्ताधारी पार्टी: कांग्रेस

किसके पास कितनी सीटें: कांग्रेस- 32, मिज़ो नेशनल फ्रंट- 3, जोराम नेशनलिस्ट पार्टी- 2, मिज़ोरम पीपल्स कांफ्रेंस- 2, अन्य: 1

पिछले चुनाव में वोटों में हिस्सेदारी: कांग्रेस- 38.89 प्रतिशत, मिज़ो नेशनल फ्रंट- 30.65 प्रतिशत, ज़ोराम नेशनलिस्ट पार्टी- 10.22 प्रतिशत, मिज़ोरम पीपल्स कांफ्रेंस- 10.38 प्रतिशत

मतदान: 4 दिसंबर

मतगणना: 08 दिसंबर 2013

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.