BBC navigation

बाहर से आए 'कूड़े-कचरे' को साफ करें बिहार के लोग: नीतीश कुमार

 शनिवार, 2 नवंबर, 2013 को 13:02 IST तक के समाचार

नरेंद्र मोदी के पटना बम विस्फोटों के पीड़ितों से मिलने के दौरान नीतीश कुमार ने मोदी पर अप्रत्यक्ष निशाना साधा.

नीतीश कुमार ने बयान दिया है कि, ''धनतेरस पर बिहार के लोगों ने झाड़ू खरीदी है और इस झाड़ू से वे 'बाहर से आये कूड़ा-कचरा' साफ़ करेंगे.''

बीजेपी नेता और पूर्व मंत्री गिरिराज सिंह ने पटना एयरपोर्ट पर पत्रकारों से कहा,''नीतीश कुमार एक 'देहाती औरत' की तरह व्यवहार कर रहे हैं. जिस तरह वो मोदी से जल रहे हैं उससे किसी तरह ऐसा नहीं लगता कि वो एक मुख्यमंत्री हैं. नीतीश का यह व्यवहार उनकी छोटी सोच को दिखाता है. ''

इसके अलावा सत्ताधारी जेडीयू ने मोदी को 'मध्ययुगीन काल' का करार दिया है. जेडीयू के मुताबिक मोदी एक हजार पुलिस कर्मियों को साथ लेकर उसी तरह बिहार पर हमला करने आये हैं, जैसे मध्य युग के राजा किया करते थे.

'शहीद' का दर्जा

वहीं नरेन्द्र मोदी ने बिहार बम विस्फोट में मारे गये लोगों को शहीद का दर्जा दिया है.

रविवार को मोदी की रैली से पहले हुए बम विस्फोटों में मारे गए लोगों के परिवारों से मिलने के बाद उन्हें 'शहीद' बताते हुए मोदी ने ट्विटर पर लिखा, ''गौरीचक में मैं शहीद राजनारायण के परिवार से मिला. यह जानकर मुझे गर्व हो रहा है कि उनके दो बेटे सेना में है.''

मोदी ने कहा, ''कैमूर में विकास सिंह की पत्नी और बच्चों से मिला और मैंने उनके परिवार से मिलकर अपनी गहरी संवादना प्रकट की.''

मोदी ने बाद में ट्विटर पर लिखा, ''हम सभी एक परिवार का ही हिस्सा हैं औऱ इस दुःख की घड़ी में उनके साथ हैं.''

उन्होंने धमाके में मारे गए भरत रजक के बेटे से फोन पर बात की और एक क़िस्से के बारे में भी बताया.

पीटीआई के मुताबिक़ मोदी ने कहा, ''भरत रजक के पालतू कबूतर उनके शव के पास ही रहा और शव यात्रा तक उनके साथ रहा. अब वह कबूतर भरत के कमरे में घूम रहा है.''

दौरा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को बिहार के विभिन्न इलाकों का दौरा किया.

मोदी ने रविवार को पटना में हुई भाजपा की हुंकार रैली से पहले हुए बम विस्फोटों में मारे गए छह लोगों में से एक के परिजनों से मुलाक़ात कर पार्टी की ओर से हरसंभव मदद मुहैया कराने का आश्वासन दिया है.

कड़ी सुरक्षा के बीच मोदी सबसे पहले क्लिक करें पटना के पुराने इलाक़े गौरीचक गए जहां उन्होंने अजीमचक गांव के निवासी 65 वर्षीय राज नारायण सिंह के परिवार वालों को सांत्वना दी जो क्लिक करें बम विस्फोट में मारे गए थे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक भाजपा के एक सांसद अरुण सिन्हा ने बताया कि मोदी ने सिंह के परिवार को पार्टी की तरफ से पांच लाख रुपये का चेक सौंपा.

"मोदी ने सिंह की पत्नी को सांत्वना दी है. पार्टी की ओर से उस परिवार को भरोसा दिया गया कि उनका ख़्याल रखा जाएगा"

रविशंकर प्रसाद सिंह

सिंह पेशे से एक किसान थे और जयप्रकाश नारायण के बड़े प्रशंसक थे.

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने क्लिक करें नरेंद्र मोदी को यह जानकारी दी कि वह अपने परिवार वालों को बिना सूचित किए ही इस रैली में गए थे. सुशील मोदी भी गुजरात के मुख्यमंत्री के साथ इस दौरे में साथ थे.

विपक्ष के नेता नंदकिशोर यादव भी इस मौके पर उपस्थित थे. सिन्हा ने कहा कि दिवंगत के परिवार वालों ने सिंह के तीन बेटों में से एक को नौकरी दिलाने की मांग की है और मोदी ने आश्वासन देते हुए कहा कि वह इसकी कोशिश करेंगे. सिंह के दो बेटे सेना में हैं.

देरी

पीटीआई के अनुसार भाजपा के नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा, "मोदी ने सिंह की पत्नी को सांत्वना दी है. पार्टी की ओर से उस परिवार को भरोसा दिया गया कि उनका ख़्याल रखा जाएगा. सिंह का परिवार इस बात से संतुष्ट था कि मोदी उनसे मिलने आए."

सुबह में कोहरे की वजह से मोदी दो घंटे की देरी से ही अपना दौरा शुरू कर पाए. मौसम साफ होने पर वह पटना से एक हेलिकॉप्टर से गौरीचक गए जो 25 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद है.

क्लिक करें बिहार सरकार ने उन्हें सरकारी मेहमान का दर्ज़ा दिया है और उनके लिए कड़े सुरक्षा के इंतज़ाम किए गए हैं.

पीटीआई के मुताबिक मोदी के सुरक्षा-इंतज़ाम में बिहार के पुलिसकर्मियों के अलावा गुजरात के 150 पुलिस अधिकारी भी जुटे हुए हैं जिनमें एक अतिरिक्त महा निदेशक, दो डीआईजी और छह डीएसपी भी शामिल हैं.

मोदी को मिले जेड डबल प्लस वीवीआईपी दर्ज़े की वजह से बिहार सरकार ने अलर्ट जारी किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.