पटना धमाके: रांची से एक अन्य संदिग्ध गिरफ़्तार

  • 30 अक्तूबर 2013
ओमैर अहमद, पटना बम धमाकों के संदिग्ध, बिहार

पटना में रविवार को नरेंद्र मोदी की रैली से पहले हुए बम धमाकों के सिलसिले में रांची से एक अन्य संदिग्ध को गिरफ़्तार किया गया है.

उत्तरी छोटानागपुर ज़ोन के आरक्षी महानिरीक्षक एमएस भाटिया के मुताबिक गिरफ़्तार किए गए संदिग्ध का नाम ओज़ैर अहमद है.

वे रांची के डोरंडा थाना क्षेत्र के मणिटोला के रहने वाले हैं.

रांची के स्थानीय पत्रकार नीरज सिन्हा के अनुसार मंगलवार दोपहर में उन्हें रांची के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में पेश किया गया.

एमएस भाटिया ने बताया कि अदालत में पेश करने के बाद एनआईए की टीम ने संदिग्ध को ट्रांज़िट रिमांड पर लिया है.

एनआईए की टीम गिरफ़्तार संदिग्ध को लेकर दिल्ली गई है.

इससे पहले रविवार को पटना में हुए धमाके के तुरंत बाद पटना में एक संदिग्ध इम्तियाज़ पकड़े गए थे. वे रांची के सीठीयो के रहने वाले हैं.

पुलिस महानिरीक्षक ने बताया है कि गिरफ़्तार किए गए संदिग्ध औज़ैर अहमद के तार इम्तियाज़ से जुड़े हैं.

आर्थिक मदद

इम्तियाज, गाँव, बिहार
बम धमाकों के संदिग्ध इम्तियाज का गाँव.

पुलिस के अनुसार औज़ैर इम्तियाज़ को आर्थिक मदद उपलब्ध कराते थे.

इम्तियाज़ के पटना जाने से पहले भी औज़ैर ने उन्हें पैसे दिए थे.

आईजी ने बताया है कि पुलिस अनुसंधान में ये बातें भी सामने आई हैं कि औज़ैर का संबंध तहसीन और हैदर से सीधे तौर पर जुड़ा हैं.

तहसीन समस्तीपुर और हैदर औरंगाबाद के रहने वाले हैं.

रविवार को दिन में हुये बम धमाके के बाद सोमवार को पटना पहुँची एनआईए की टीम ने रांची में देर रात तक छापे मारे गए थे.

सोमवार को एनआईए की टीम इस मामले में जांच करने रांची पहुंची थी. एनआईए की टीम झारखंड पुलिस के आला अफ़सरों के साथ लगातार पड़ताल में जुटी थी.

पूछताछ जारी

पटना बम धमाके के कथित अभियुक्तों के परिजनों से पुलिस और सीआईडी की पूछताछ जारी है.

मंगलवार की रात रांची-पटना की पुलिस की संयुक्त रूप से इम्तियाज़ के गांव गई थी.

इस मामले में दो संदिग्ध फ़रार हैं. वे भी इम्तियाज़ के गांव के रहने वाले हैं.

पुलिस के अनुसार फ़रार संदिग्धों के नाम नुमान और तौफ़ीक हैं.

रविवार को हुए धमाकों में छह लोग मारे गए और 102 लोग घायल हुए थे.

घायलों को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था जिनमें से 38 का अब भी इलाज चल रहा है. घायलों में चार की हालत गंभीर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)