भगदड़ के बाद अपनों की तलाश

14 अक्तूबर 2013 अतिम अपडेट 07:24 IST पर

मध्य प्रदेश के दतिया ज़िले में हुए हादसे की कुछ तस्वीरें.
भगदड़ में अपने परिज़नों को खोने वाले हादसे के लिए प्रशासन को जिम्मेदार मान रहे हैं. नाराज़ श्रद्धालुओं ने वहां मौजूद पुलिसबल पर पथराव भी किया जिसमें कई पुलिसवाले घायल हुए हैं.
भगदड़ के दौरान कुछ लोग कुचले गए और कुछ जान बचाते हुए नदी में कूद गए. कुछ दोस्त पुल की छोर के पास थे इसलिए बच निकले, अफसोस है कि सभी लोग इतने सौभाग्यशाली नहीं थे.
इसी पुल पर रविवार को दशहरा के दिन हादसा हुआ. पुल पर हज़ारों लोग अचानक चीखते हुए छोर की तरफ भागने लगे, जिससे भगदड़ की स्थिति बन गई.
राहत और बचाव कार्यों के लिए प्रशासनिक इंतजाम में भारी कमी देखी गई. लोग खुद ट्रकों में शवों को भरकर ले जा रहे हैं.
मध्य प्रदेश के दतिया जिले में रतनगढ़ मंदिर के पास भगदड़ में मारे गए लोगों के पास बैठे उनके परिजन. भगदड़ में अब तक 91 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो गई है.
मारे गए लोगों के शवों और उनके सामानों को घेरकर खड़े उनके परिज़न. घटनास्थल काफ़ी दूर होने की वजह से राहत कार्य में देरी हो रही है.