तेलंगाना पर पुलिस औऱ प्रदर्शनकारियों में फिर मुठभेड़

  • 6 अक्तूबर 2013
तेलंगाना मुद्दे पर आंध्र में लगातार प्रदर्शन जारी है.

देखते ही गोली मार देने और कर्फ्यू के आदेश को धता बताते हुए विजयनगर में प्रदर्शनकारी एक बार फिर सड़कों पर उतर आये, और पुलिसकर्मियों से भिड़ गये.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक विजय नगर के बाहरी इलाके कोठपीटा में पुलिस ने पत्थरबाजी कर रहे प्रदर्शनकारियों पर रबड़ की गोलियां चलाई. इसके अलावा प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिये पल्लीवीधि इलाके में पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया.

प्रदर्शनकारियों ने आंध्र प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख बी सत्यनारायण के परिवार द्वारा चलाये चा रहे, विजयनगर के बाहरी इलाके में स्थित सत्यना इंजीनियरिंग कॉलेज को भी अपना निशाना बनाया. सत्यनारायण का ताल्लुक भी विजयनगर से है.

कर्फ्यू भी बेअसर

कल रात पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मार देने और कर्फ्यू की घोषणा की थी, लेकिन प्रदर्शनकारियों पर इसका कोई असर नहीं पड़ा.

पुलिस के मुताबिक कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया है. शनिवार को बड़े स्तर पर हुई हिंसा को ध्यान में रखते हुए विजयनगर में एहतियातन कर्फ्यू लगाया गया था.

तीन अक्टूबर को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पृथक क्लिक करें तेलंगाना राज्य बनाने के सरकार के फ़ैसले को अनुमति दी थी. इस फैसले के बाद से विजयनगर में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं.

पुलिस के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने कुछ दुकानों में आगजनी कर लूटपाट भी की.

उत्तरी तटीय क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक द्वारका तिरुमाला राव ने पीटीआई से कहा कि हमें प्रदर्शनकारियों द्वारा कई दुकानों में आगजनी, लूट, एक बैंक में आग लगाये जाने और सरकारी व निजी सम्पत्ति को नुकसान किये जाने की सूचना मिली थी. इसीलिये कल रात क्षेत्र में कर्फ्यू लगाने का आदेश दिया गया.

आंध्र प्रदेश के ग़ैर राजपत्रित अधिकारियों और संयुक्त आंध्र प्रदेश का समर्थन करने वाले संगठनों ने 48 घंटे के आंध्र बंद की घोषणा की थी. इस बंद की समय सीमा कल रात खत्म हो गयी थी. पुलिस महनिरीक्षक के अनुसार लगभग पूरे सीमांध्र में स्थिति नियंत्रण में है.

पिछले दो सालों से आंध्र में कांग्रेस प्रमुख सत्यनारायण औऱ उनके परिवार की सम्पत्ति प्रदर्शनकारियों के निशाने पर रही है.

कल पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुई मुठभेड़ में विजयनगर के डीएसपी कृष्णा प्रसन्ना सहित दो दर्जन पुलिस कर्मियों को हल्की चोटें आयीं थीं.

आमरण-अनशन

इसी बीच वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगनमोहन रेड्डी केंद्र सरकार के फ़ैसले के ख़िलाफ़ हैदराबाद में शनिवार सुबह से अपना आमरण अनशन शुरू कर दिया है.

वहीं तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के मुखिया एन चंद्रबाबू नायडू ने 'सीमांध्रा के लोगों को उनका हक़ दिलाने के लिए' सोमवार से दिल्ली में अनिश्चितकालीन अनशन शुरू करने की घोषणा की है.

आंध्र प्रदेश का बँटवारा कर पृथक तेलंगाना राज्य बनाने के फ़ैसले के बाद शनिवार को लगातार दूसरे दिन जारी विरोध प्रदर्शनों से आंध्र प्रदेश के सीमांध्रा और रायलसीमा क्षेत्रों में आम जन जीवन पर काफ़ी असर हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)