BBC navigation

8 दिसंबर को तय होगी पांच राज्यों की किस्मत

 शुक्रवार, 4 अक्तूबर, 2013 को 18:03 IST तक के समाचार
भारतीय निर्वाचन आयोग

निर्वाचन आयोग ने पांच राज्यों में चुनाव तारीखों का ऐलान कर दिया है

चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा कर दी है.

चुनाव आयोग ने दिल्ली, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, और मिजोरम में होने वाले विधानसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा की है. मतदान 11 नवंबर से 4 दिसंबर तक होंगे.

चुनाव आयोग इन्हीं चुनावों में मतदाताओं को नोटा (उपरोक्त में से कोई भी नहीं) यानि सभी उम्मीदवारों को खारिज करने का अधिकार भी प्रदान करेगा.

नक्सल प्रभावित छत्तीसगढ़ में दो चरणों मतदान होगा. यहां 11 और 19 नवंबर को वोट डाले जाएंगें

मध्य प्रदेश में 25 नवंबर को वोट डाले जाएंगें. राजस्थान में 1 दिसंबर को वोट डाले जाएंगें.

दिल्ली और मिज़ोरम में 4 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे.

मतगणना आठ दिसंबर को

सभी पांच राज्यों में मतों की गणना एक ही दिन 8 दिसंबर को की जाएगी.

मुख्य निर्वाचन आयुक्त वीएस संपत ने कहा कि तारीखों की घोषणा के साथ ही आचार संहिता भी लागू हो गई है.

उन्होंने कहा कि पांचों राज्यों में कुल 11 करोड़ मतदाता 1,30,000 पोलिंग स्टेशनों में वोट डालकर 630 जनप्रतिनिधियों को चुनेंगे.

"सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार आने वाले चुनावों में नोटा (नन ऑफ़ द अबव) यानि कि उपलब्ध उम्मीदवारों में से कोई भी नहीं का विकल्प भी दिया जाएगा. "

वीएस संपत, मुख्य चुनाव आयुक्त

चुनाव प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी करवाई जाएगी, और पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है.

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार आने वाले चुनावों में नोटा (नन ऑफ़ द अबव) यानि कि उपलब्ध उम्मीदवारों में से कोई भी नहीं का विकल्प भी दिया जाएगा.

चुनाव आयोग इसके लिए चुनाव अधिकारियों और मतदाताओं को प्रशिक्षित भी करेगा.

इस बार साफ-सुथरे चुनाव की ओर एक और कदम बढ़ाते हुए चुनाव खर्च की भी निगरानी की जाएगी, और जागरूकता पर्यवेक्षकों को भी तैनात किया जाएगा.

छत्तीसगढ़ में चुनाव के पहले चरण के लिए अधिसूचना 18 अक्टूबर को जारी होगी, नामांकन भरने की आखिरी तारीख 25 अक्टूबर होगी, जबकि छंटनी का काम 26 अक्टूबर को होगा.

नामांकन वापसी की आखिरी तारीख 28 अक्टूबर होगी, तथा मतदान 11 नवंबर को होगा.

छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के लिए अधिसूचना 25 अक्टूबर को जारी होगी, नामांकन भरने की आखिरी तारीख 1 नवंबर होगी, जबकि छंटनी का काम 2 नवंबर को होगा.

नामांकन वापसी की आखिरी तारीख 4 नवंबर होगी, तथा मतदान 19 नवंबर को होगा.

मध्य प्रदेश में एक ही चरण में 25 नवंबर को मतदान करवाया जाएगा.

चुनाव कार्यक्रम

11 नवंबर से चार दिसंबर तक होगा पांच राज्यों में मतदान.

आठ दिसंबर को एक साथ सभी राज्यों में वोटों की गिनती.

छत्तीसगढ़ में दो चरणों में होगा मतदान. 11 और 19 नवंबर को पड़ेंगे वोट.

मध्य प्रदेश में 25 नवंबर को मतदान.

राजस्थान में एक दिसंबर को पड़ेंगे वोट.

दिल्ली और मिजोरम में मतदान की तारीख.

पांचों राज्यों में 11 करोड़ से अधिक मतदाता चुनेंगे 630 जनप्रतिनिधि.

पांच राज्यों में पोलिंग स्टेशनों की संख्या- 1,30,000.

इसके लिए अधिसूचना 1 नवंबर को जारी होगी, नामांकन भरने की आखिरी तारीख 8 नवंबर होगी, जबकि छंटनी का काम 9 नवंबर को होगा.

नामांकन वापसी की आखिरी तारीख 11 नवंबर होगी.

सत्ता का सेमी-फ़ाइनल!

राजस्थान में भी एक ही चरण में 1 दिसंबर को मतदान होगा.

इसकी अधिसूचना 5 नवंबर को जारी होगी, नामांकन भरने की आखिरी तारीख 12 नवंबर होगी, जबकि छंटनी का काम 13 नवंबर को होगा.

नामांकन वापसी की आखिरी तारीख 16 नवंबर होगी.

दिल्ली और मिजोरम में एक साथ 4 दिसंबर को मतदान करवाया जाएगा.

इन दोनों राज्यों में चुनाव के लिए अधिसूचना 9 नवंबर को जारी होगी, नामांकन भरने की आखिरी तारीख 16 नवंबर होगी, जबकि छंटनी का काम 18 नवंबर को होगा.

नामांकन वापसी की आखिरी तारीख 20 नवंबर होगी.

इन राज्यों में इस बार चुनाव का महत्व इसलिए भी अधिक है, क्योंकि कुछ ही महीने बाद अगले साल मई में लोकसभा चुनाव भी होने हैं.

इन विधानसभा चुनावों को आम चुनाव के सेमी-फाइनल के तौर पर देखा जा रहा है.

छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है वही दिल्ली, राजस्थान और मिजोरम में कांग्रेस की सरकार है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें यहां क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.