दिल्ली गैंगरेप: नौ महीनों की अहम तारीखों का सफ़र

  • 10 सितंबर 2013

पिछले साल 16 दिसंबर को दिल्ली में चलती बस में हुई सामूहिक बलात्कार की घटना पर अदालत आज अपना फ़ैसला सुना सकती है.

पूरे देश में व्यापक जनाक्रोश पैदा करने वाली इस घटना की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट की 130 बैठकों में पूरी हुई. इस मामले में एक नाबालिग दोषी को तीन साल की सज़ा पहले ही सुनाई जा चुकी है.

इस मसले से जुड़े पूरे घटनाक्रम पर एक नज़र-

2012

  • 16 दिसंबर: दिल्ली में चलती बस में छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार.
  • 17 दिसंबर: बस ड्राइवर राम सिंह और उसके तीन साथी गिरफ़्तार.
  • 21-22 दिसंबर: एक नाबालिग़ सहित दो और लोग गिरफ़्तार.
  • 29 दिसंबर: सिंगापुर के एक अस्पताल में पीड़ित की मौत.
  • 23 दिसंबर: दिल्ली उच्च न्यायालय ने फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट की स्थापना की.

2013

  • 3 जनवरी: पांच अभियुक्तों के खिलाफ 33 पेज का आरोप पत्र दाखिल.
  • 7 जनवरी: कैमरे की निगरानी में मामले की सुनवाई का आदेश.
  • 21 जनवरी: विशेष फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में पांच अभियुक्तों की सुनवाई शुरू.
  • 28 जनवरी: जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने छठे अभियुक्त को नाबालिग़ घोषित किया.
  • 2 फरवरी: फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट ने पांच अभियुक्तों के खिलाफ आरोप तय किए.
  • 5 मार्च: नियमित सुनवाई शुरू.
  • 11 मार्च: तिहाड़ जेल में राम सिंह को मृत पाया गया.
  • 22 अगस्त: अंतिम दौर के लिए अभियोजन पक्ष ने दलील पेश करनी शुरू की.
  • 27 अगस्त: अंतिम दौर के लिए बचाव पक्ष ने दलील पेश करनी शुरू की.
  • 31 अगस्त: जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने नाबालिग़ को बलात्कार और हत्या का दोषी पाया.
  • 3 सितंबर: फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई ख़त्म.
  • 10 सितंबर: अदालत ने अपना फ़ैसला सुनाने के लिए 10 सितंबर की तारीख तय की

पढ़ें : दिल्ली गैंगरेप: फ़ैसले की घड़ी आज

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)