BBC navigation

आठ बजे रात से पेट्रोल पंप बंद रखने का 'प्रस्ताव'

 सोमवार, 2 सितंबर, 2013 को 01:24 IST तक के समाचार
वीरप्पा मोइली

वीरप्पा मोइली ने कहा कि अभी ये सिर्फ़ एक प्रस्ताव है

क्लिक करें तेल आयात के ख़र्चों को कम करने और क्लिक करें रुपए की गिरती क़ीमत को क़ाबू करने के लिए भारत के पेट्रोलियम मंत्री वीरप्पा मोइली ने कई प्रस्ताव लाने वाले हैं.

वीरप्पा मोइली का कहना है कि इन प्रस्तावों में पेट्रोल पंपों को रात आठ बजे से सुबह आठ बजे तक बंद करना भी शामिल है.

बंगलौर में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि ख़र्च कम करने के लिए कई प्रस्ताव सामने आए हैं, जिनमें पेट्रोल पंपों को रात में बंद करना भी शामिल है.

लेकिन पेट्रोलियम मंत्री ने यह स्पष्ट किया कि अभी इस पर कोई फ़ैसला नहीं हुआ है, ये सिर्फ़ एक प्रस्ताव है. वीरप्पा मोइली ने लोगों से अपील की कि वे ईंधन की बचत करें.

विपक्षी भारतीय जनता पार्टी ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और कहा है कि सरकार को पहले ख़ुद बचत करनी चाहिए. पार्टी प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन ने कहा कि पेट्रोल पंप ही नहीं ये सरकार इस देश को ही बंद करना चाहती है.

दबाव

"हमें खपत कम करने की आवश्यकता है ताकि आयात कम किया जा सके. अन्यथा पेट्रोल की क़ीमतें बढ़ती रहेंगी और रुपया भी गिरता रहेगा"

वीरप्पा मोइली, पेट्रोलियम मंत्री

पेट्रोलियम मंत्रालय 16 सितंबर से छह सप्ताह का एक ईंधन बचाओ अभियान शुरू करने वाला है.

वीरप्पा मोइली ने कहा, "हमें खपत कम करने की आवश्यकता है ताकि आयात कम किया जा सके. अन्यथा पेट्रोल की क़ीमतें बढ़ती रहेंगी और रुपया भी गिरता रहेगा."

केंद्र सरकार पर ये दबाव है कि वो तेल आयात के ख़र्चों को कम करे, जो पिछले साल 144.2 अरब डॉलर था. पेट्रोलियम मंत्रालय को भरोसा है कि वो ख़र्चों में कमी कर 20 अरब डॉलर तक बचा सकता है.

वीरप्पा मोइली ने कहा कि जब भी डॉलर के मुक़ाबले रुपए की क़ीमत में एक रुपए की गिरावट आती है, तेल आयात का ख़र्च 7900 करोड़ रुपए बढ़ जाता है. उन्होंने कहा, "तेल कंपनियाँ डीजल पर प्रति लीटर 10 रुपए और केरोसीन तेल पर प्रति लीटर करीब 33 रुपए का नुक़सान झेल रही हैं."

तेल मंत्रालय का ये भी आकलन है कि मौजूदा स्तर पर तेल कंपनियों का नुक़सान एक लाख 80 हज़ार करोड़ तक का हो जाएगा.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे क्लिक करें फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और क्लिक करें ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.