केरल: भूस्खलन और बारिश से 10 से अधिक मरे

  • 6 अगस्त 2013
कोच्ची में बरसात ( फ़ाइल फ़ोटो)

केरल में रविवार से हो रही भारी बरसात ने सामान्य जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है. राज्य सरकार ने राहत और बचाव कार्य के लिए सेना से मदद मांगी है.

समाचार एजेंसी पीटीआई और अन्य एजेंसियों के मुताबिक़ इडुकी ज़िले में भारी बारिश की वजह से हुए भूस्खलन से 10 से अधिक लोगों की मौत हो गई. कई अन्य लोग अभी भी लापता बताए जा रहे हैं.

समाचार एजेंसी यूएनआई की ख़बर के मुताबिक़ राज्य सरकार ने भूस्खलन से प्रभावित इडुपी जिले में राहत और बचाव कार्य के लिए सेना से मदद मांगी है.

एक आपात बैठक के बाद राज्य के मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने कहा कि बाढ़ से प्रभावित इलाकों के करीब 20 हज़ार लोगों को राहत शिविरों में पहुँचाया गया है. राज्य सरकार ने राहत और बचाव कार्य के लिए 84 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं.

भारी नुक़सान

बाढ़ की वजह से इडुकी जिले में फसलों और संपत्ति को भी भारी नुकसान पहुँचा है.

रनवे पर पानी भर जाने की वजह से कोच्चि के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को सोमवार को कुछ देर के लिए बंद करना पड़ा. समाचार एजेंसियों के मुताबिक़ सोमवार को दो विमानों का रूट बदलकर कहीं और भेजना पड़ा.

हवाई अड्डे के निदेशक एसीके नायर ने संवाददाताओं को बताया कि इदमालायालर बाँध के फाटक खोले जाने की वजह से पेरियार नदीं में बाढ़ आ गई और उसका पानी रनवे पर घुस गया.

भारी बारिश को देखते हुए मौसम विभाग ने मछुआरों को अगले 48 घंटे तक समुद्र में न जाने की सलाह दी है. विभाग का पूर्वानुमान है कि इस दौरान 45-55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से हवाएं चलेंगी और तेज़ बरसात होगी.

भारतीय नौसेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि राज्य प्रशासन के अनुरोध पर एर्नाकुलम जिले के आलुआ के एक द्वीप पर पीड़ित परिवारों की मदद के लिए 20 गोताख़ोर और चार नावें भेजी गई हैं.

भूस्खलन से प्रभावित इड्डुकी ज़िले में भी राहत के काम के लिए एक टीम भेजी गई है.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)