आम चुनावों के लिए बिल्कुल तैयार हैं: भाजपा

  • 8 जुलाई 2013

भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को घोषणा कर दी कि 2014 में होने वाले आम चुनाव अगर जल्द कराए जाएंगे तो उनकी पार्टी उसके लिए तैयार हैं.

दिल्ली में हुई भाजपा संसदीय समीति की बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता अनंत कुमार ने एक प्रेस वार्ता की जिसमे उन्होंने आगामी चुनावों में पार्टी की रणनीति पर बात की.

उन्होंने कहा, "कांग्रेस अपने सहयोगी दलों को लेकर आश्वस्त नहीं है, इसलिए वे चुनाव जल्दी भी करा सकते हैं. लेकिन भाजपा इसके लिए तैयार है."

अनंत कुमार ने कहा, "देश की राजनीतिक परिस्थितियों का आकलन करने पर भाजपा ने स्पष्ट तौर पर पाया कि कांग्रेस आज की तारीख में संसद के सामने नहीं जाना चाहती. इसलिए हमारी पार्टी की संसदीय समीति ने तय किया है कि पार्टी सुशासन और विकास को राष्ट्रीय स्तर पर जनता के सामने मुद्दा बनाएगी और चुनाव की तैयारी में जुटेगी.”

उन्होंने कहा कि कांग्रेस इन दोनों मुद्दों पर जनता के समक्ष आने की स्थिति में नहीं है.

रणनीति

भारतीय जनता पार्टी ने ये भी साफ कर दिया है कि पार्टी की आगामी चुनावों के लिए रणनीति किस बात पर आधारित रहेगी.

अनंत कुमार ने कहा, "हम पहले एक राजनीतिक अभियान चलाने वाले हैं. देश भर में 100 से भी ज्यादा रैलियां की जाएंगी. भ्रष्टाचार, आर्थिक संकट और महंगाई जैसे मुद्दों पर मौजूदा सरकार की विफलता को हम जनता के सामने रखेंगे. दूसरे, हम संगठन के तौर पर तमाम समितियों का गठन करेंगे. इनके गठन का ज़िम्मा अध्यक्ष राजनाथ सिंह और चुनाव अभियान के प्रमुख नरेंद्र मोदी की अगुवाई में होगा."

राजनाथ सिंह और नरेंद्र मोदी
राजनाथ सिंह और नरेंद्र मोदी चुनाव के मद्देनज़र तमाम समितियों का गठन करेंगे.

पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए अनंत कुमार ने स्पष्ट किया कि ये दोनों नेता पार्टी के सभी बड़े नेताओं के साथ सलाह मशविरा करके आने वाले दिनों में इन समितियों का गठन करेंगे.

भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि वो संसद में आम सहमति बनाए जाने के पक्ष में नहीं है.

भाजपा प्रवक्ता अनंत कुमार ने कहा, "अपने ही सहयोगी दलों के दबाव में रहने के कारण कांग्रेस खाद्य सुरक्षा विधेयक तक को संसद में पारित कराने से कतरा गई और अध्यादेश के तौर पर कानून बनाने की योजना बनी. साफ़ है कि यूपीए गटबंधन टूट रहा है."

कांग्रेस की सफाई

हालांकि कांग्रेस ने इसके तुरंत बाद सफाई देते हुए भाजपा के बयान की निंदा की.

पार्टी नेता रेणुका चौधरी ने कहा, "समय आ गया है जब भाजपा नकारात्मक बातें बंद करे."

इसी वर्ष पांच राज्यों में भी विधानसभा चुनाव होने वाले हैं जिनमें मध्य प्रदेश, छतीसगढ़ और दिल्ली के चुनावी नतीजे अगले आम चुनावों के लिए बेहद अहम माने जा रहे हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)