मध्य प्रदेश: यौन शोषण मामले में पूर्व मंत्री पार्टी से निष्कासित

  • 8 जुलाई 2013
बलात्कार प्रदर्शन
कांग्रेस पार्टी मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान का इस्तीफ़ा मांग रही है.

'सहयोगी' के यौन शोषण के आरोप में शुक्रवार को मंत्री पद से हटाए गए भारतीय जनता पार्टी के बुजुर्ग नेता और पूर्व वित्‍त मंत्री राघव जी को पार्टी ने छह साल के लिए निष्‍कासित कर दिया है.

ऐसा पार्टी ने उनके खिलाफ पुलिस में प्राथमिकी या एफआईआर दर्ज होने के बाद किया.

पीड़ित सहयोगी राजकुमार दांगी के पुलिस के सामने पेश होने और उसके बयान होने के बाद भोपाल की हबीबगंज पुलिस ने पूर्व मंत्री के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की अप्राकृतिक कृत्य, धमकाने और दूसरी धाराओं में केस दर्ज कर लिया है.

भाजपा ने यह फैसला पार्टी के तमाम बडे नेताओं से बातचीत के बाद किया.

राज्‍य के मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निवास पर रविवार शाम को हुई जरूरी बैठक में पार्टी की राज्‍य इकाई के अध्‍यक्ष नरेन्‍द्र सिंह तोमर, राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष प्रभात झा, पूर्व मुख्‍यमंत्री सुंदरलाल पटवा और कैलाश जोशी वग़ैरह मौजूद थे.

जिस समय उनके निष्‍कासन का फैसला लिया जा रहा था, राघवजी अपने गृह नगर विदिशा में धूमधाम से 78 वां जन्‍म दिन मना रहे हैं.

इससे पहले पार्टी शनिवार शाम को सीडी तैयार करने की जवाबदारी लेने वाले नेता शिवशंकर पटेरिया को प्राथमिक सदस्‍यता से निलंबित कर चुकी है.

विधानसभा सत्र

मध्‍यप्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है जिसमें इस मसले पर जमकर हंगामा होने के आसार हैं.

इस सत्र में विपक्षी दल कांग्रेस शिवराज सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्ताव ला रही है.

शिवराज सरकार के सामने विपक्ष के अविश्‍वास प्रस्‍ताव के साथ साथ राघवजी यौन शोषण मामले से निबटना भी कठिन होगा.

राज्‍य विधानसभा में विपक्ष के नेता अजय सिंह रविवार को इस मामले को लेकर मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से इस्‍तीफा मांगा है.

संबंधित समाचार