यौनाचार के आरोपों पर मध्य प्रदेश के मंत्री का इस्तीफा

  • 5 जुलाई 2013
राघवजी
राघवजी 2003 से मध्य प्रदेश भाजपा सरकार में मंत्री थे

मध्य प्रदेश के वित्तमंत्री राघवजी ने यौनाचार के आरोप लगने के बाद शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया.

पुलिस के मुताबिक राघवजी पर ये आरोप उनके घरेलू नौकर ने लगाए हैं. उनका इस्तीफा मुख्यंमत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वीकार कर लिया है.

राघवजी ने इन आरोपों को खारिज़ करते हुए अपने बचाव में कहा है कि यह उनके खिलाफ एक राजनीतिक साजिश है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के कहने पर उन्होंने इस्तीफा दिया है.

भोपाल के डीआईजी डी श्रीनिवास वर्मा ने बीबीसी को बताया, "शुक्रवार सुबह दस बजे के करीब एक व्यक्ति ने पुलिस को दिए आवेदन में मंत्री राघवजी के खिलाफ यौनाचार के आरोप लगाए थे. हमने आवेदन स्वीकार कर लिया है. हालाँकि शिकायत के कुछ देर बाद ही वह व्यक्ति किसी मीडियाकर्मी के साथ चला गया. जब वह दोबारा आएगा तो मेडिकल करने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. आरोप लगाने वाले व्यक्ति की उम्र करीब 30 साल है."

डीआईजी भोपाल के मुताबिक शिकायत में कहा गया है कि पीड़ित व्यक्ति लंबे वक्त से मंत्री के यहां काम कर रहा था. उन्होंने अपनी शिकायत में मंत्री पर पिछले तीन साल से यौनाचार करने का आरोप लगाया है.

मध्य प्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी डॉक्टर शीतेश वाजपेयी ने बीबीसी को बताया, "वित्त मंत्री राघवजी का इस्तीफा मुख्यमंत्री ने स्वीकार कर लिया है." हालाँकि वाजपेयी इस्तीफे का कारण नहीं बता सके.

कौन हैं राघवजी?

राघवजी पेशे से वकील भी हैं और 1958 से प्रैक्टिस कर रहे हैं.

राघवजी वर्ष 1970-72 में मध्यप्रदेश विधानसभा के सदस्य रहे. वे वर्ष 1977-79 और 1989-91 में लोकसभा सदस्य रहे. वर्ष 1991-92 और 1994-2000 में वे राज्यसभा के भी सदस्य रहे हैं.

वे दिसंबर 2003 से विधायक हैं. वे उमा भारती, बाबूलाल गौर और शिवराज सिंह चौहान की सरकार में मंत्री रह चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकतें हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर क्लिक करें फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार