BBC navigation

उत्तराखंड में हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, 12 की मौत

 बुधवार, 26 जून, 2013 को 08:08 IST तक के समाचार
उत्तराखंड में हेलीकॉप्टर हादसा

उत्तराखंड में अब भी हजारों लोग दुर्गम इलाकों में फंसे हैं

उत्तराखंड में राहत और बचाव कार्य में लगे एक हेलिकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने से 12 लोग मारे गए हैं.

भारतीय वायुसेना का कहना है कि मरने वालों में चालक दल के सभी सदस्य शामिल है. ये हेलिकॉप्टर मंगलवार को एक पर्वत से टकराकर नदी में जा गिरा था.

भारतीय वायुसेना के प्रवक्ता जैरड गॉल्वे ने बीबीसी को बताया कि इस दुर्घटना मारे गए 12 लोगों के शव मिल चुके हैं.

इस सवाल पर कि क्या इस हेलीकॉप्टर में और लोग भी थे, प्रवक्ता का कहना था कि अभी इस बारे में पुष्ट तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता, लेकिन बाकी की तलाश की जा रही है.

क्लिक करें उत्तराखंड में पिछले दिनों आई क्लिक करें भयानक बाढ़ और भूस्खलन के बाद युद्ध स्तर पर राहत और बचाव कार्य चल रहा है, जिसमें सेना, अर्धसैनिक बल और अन्य एजेंसियां दुर्गम इलाकों में फंसे हजारों लोगों को निकालने में जुटी हैं.

दुर्घटनाग्रस्त होने वाला हेलिकॉप्टर उत्तराखंड में गौरीकुंड के पास क्लिक करें बचाव अभियान के तहत अपनी उड़ान पर था.

इस दुर्घटना से इतने संकेत तो साफ़ हैं कि घटना अत्यंत दुर्गम पहाड़ी इलाके में हुई है.

राज्य में युद्ध स्तर पर जारी अभियान में अब तक 97 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है. लेकिन अब भी पांच हजार लोग फंसे हुए हैं.

वायुसेना के प्रवक्ता ने कहा कि मंगलवार को रूस निर्मित एमआई-17 हेलिकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने के कारणों की जांच की जा रही है.

ख़राब मौसम की मार

"इन दिनों हमारे पायलट दोगुनी ड्यूटी कर रहे हैं. हमारा मुख्य मकसद है ज्यादा से ज्यादा लोगों को सुरक्षित पहाड़ों से निकाल कर लाना. ये कहना गलत नहीं होगा कि इस तरह के बचाव कार्यों में खराब मौसम बहुत खतरनाक होता है."

राजेश इसर, प्रमुख टास्क कमांडर

उत्तराखंड में चल रहे राहत और बचाव कार्य में 45 हेलिकॉप्टर इस्तेमाल किए जा रहे हैं.

इन हेलिकॉप्टरों के प्रमुख टास्क कमांडर राजेश इसर कहते हैं, "इन दिनों हमारे पायलट दोगुनी ड्यूटी कर रहे हैं. हमारा मुख्य मकसद है ज्यादा से ज्यादा लोगों को सुरक्षित पहाड़ों से निकाल कर लाना. ये कहना गलत नहीं होगा कि इस तरह के बचाव कार्यों में खराब मौसम बहुत खतरनाक होता है."

उत्तराखंड में बाढ़ से अब तक आठ सौ ज्यादा लोग मारे गए है. अधिकारियों के अनुसार मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि दूर दराज के इलाकों लोगों के शव बरामद हो रहे हैं.

बचाव अभियान में खराब मौसम से खासी बाधाएं आ रही हैं. पायलट प्रकाश गौतम का कहना है, "आजकल हम जिस तरह से काम कर रहे हैं वैसा हमने पहले कभी नहीं किया. हमारा काम ही यही है इसलिए हमें इसे करने में ख़ुशी होती. हालांकि खराब मौसम में बहुत कोफ़्त भी होती है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें यहाँ क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.