राजनाथ सिंह देंगे 'अलग-थलग' पड़े सिद्धू का साथ

  • 12 अप्रैल 2013
राजनाथ सिंह सिद्धू को मनाएंगे.
नवजोत कौर ने कहा है कि उनके पति सिद्धू बीजेपी में 'अलग-थलग, महसूस कर रहे है.

बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने पार्टी के नेताओं से नाराज नवजोत सिंह सिद्धू की शिकायतों को दूर करने का आश्वासन दिया है. बीजेपी के सांसद नवजोत सिंह सिद्धू को शिकायत है कि उन्हें पार्टी के भीतर अलग-थलग रखा जा रहा है.

बीजेपी अध्यक्ष के करीबी सूत्रों के अनुसार राजनाथ सिंह ने सिद्धू से आज सुबह बात की और आश्वासन दिया कि वे उनकी शिकायतों पर गौर करेंगे.

सूत्रों के अनुसार टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट जैसे ही खत्म होगा राजनाथ सिंह अमृतसर सांसद सिद्धू से मिलेंगे.

हालांकि, टी-20 से जुड़ी अपनी प्रतिबद्धताओं के कारण व्यस्त सिद्धू इस संदर्भ में टिप्पणी के लिए उपलब्ध नहीं हो सके.

नितिन गडकरी के पार्टी अध्यक्ष रहने के दौरान नवजोत सिद्धू भाजपा में सचिव थे.

पंजाब के मंत्री विक्रमजीत सिंह मजीठिया सहित अकाली दल के कई शीर्षस्थ नेताओं के साथ मनमुटाव होने के कारण सिद्धू अपना निर्वाचन क्षेत्र बदल देना चाहते हैं.

‘अलग-थलग’

अभी उस इलाके में अकाली दल का कार्यभार पूरी तरह से पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के नजदीकी रिश्तेदार मजीठिया संभाल रहे हैं.

राजनाथ सिंह सिद्धू को मनाएंगे.
सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने फेसबुक पोस्ट पर लिखा है कि उनके पति पार्टी में ‘उपेक्षित और अलग-थलग’ महसूस कर रहे हैं.

अमृतसर लोकसभा सीट से सिद्धू ने तीन बार चुनाव जीता है. उनकी पत्नी नवजोत कौर 2012 के पंजाब विधानसभा चुनाव में अमृतसर से विधायक निर्वाचित हुई थीं.

हालांकि सिद्धू कुछ नहीं बोल रहे मगर उनकी पत्नी नवजोत कौर, जो राज्य सरकार में स्वास्थय मामलों की संसदीय सचिव हैं, ने गुरुवार को कहा कि सिद्धू पार्टी द्वारा इस तरह ‘अलग-थलग’ कर दिए जाने के बाद अमृतसर सीट से अब चुनाव नहीं लड़ेंगे.

बीजेपी के कुछ नेताओं का मानना है कि सिद्धू अपने निर्वाचन क्षेत्र पर ध्यान नहीं दे रहे हैं और वे पार्टी छोड़ना चाहते हैं.

कौर ने कहा है, “मेरे पति अमृतसर से अब संसदीय चुनाव नहीं लड़ेंगे. उन्होंने यह निर्णय तभी ले लिया था जब बीजेपी ने उन्हें और उनकी टीम को नजरअंदाज कर पार्टी मामलों में दरकिनार करना शुरु कर दिया था. मेरे पति और उनकी टीम ने इस क्षेत्र के लिए एक दशक से भी ज्यादा समय तक काम किया है.”

कौर ने सोशल नेटवर्किंग साइट पर टिप्पणी करके भाजपा की प्रदेश इकाई के भीतर विवादों को भी हवा दे दी है.

उन्होंने फेसबुक पोस्ट पर लिखा था कि उनके पति पार्टी में ‘उपेक्षित और अलग-थलग’ महसूस कर रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया है कि भ्रष्ट व्यवस्था का हिस्सा न बनने के कारण मेरे पति को किनारे कर दिया गया.

संबंधित समाचार