चेन्नई की पंजाब पर धमाकेदार जीत

  • 10 अप्रैल 2013
माइकेल हसी ने शानदार 86 रन बनाए

इंडियन प्रीमियर लीग में बुधवार को मोहाली में खेले गए मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को दस विकेट से हरा दिया. माइक हसी ने शानदार 86 रन बनाए.

किंग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई के सामने जीत के लिए 139 रनों का लक्ष्य दिया था जिसे चेन्नई ने बिना कोई विकेट गँवाए अठारहवें ओवर में ही हासिल कर लिया.

टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए किंग्स इलेवन ने 138 रन बनाए. इसमें डेविस हसी के 40, गुरकीरत सिंह के 31 और मानन वोहरा के 16 रन शामिल हैं. सुपर किंग्स की ओर से ड्वेन ब्रावो ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए.

तेज गेंदबाज डर्क नैन्स ने अपने कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने के फैसले को बिल्कुल सही साबित किया. 20 रन के कुल योग पर ही किंग्स इलेवन के सलामी बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखा दी.

शुरुआती बल्लेबाज़ों में सिर्फ हसी और मानन वोहरा ही अच्छी लय में दिखे. दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 30 रन जोड़े लेकिन 50 के कुल योग पर रवींद्र जडेजा ने मानन को आउट करके किंग्स इलेवन को तीसरा झटका दिया.

मानन का विकेट गिरने के बाद गुरकीरत और हसी ने चौथे विकेट के लिए सबसे उपयोगी साझेदारी की. इन दोनों ने 43 गेंदों पर 56 रन जोड़े. हसी ने 36 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया.

लेकिन इसके बाद किंग्स इलेवन के बल्लेबाजों आउट होने का जो सिलसिला शुरू हुआ, वह 138 रनों पर जाकर थम गया. 127 रनों के बाद किंग्स इलेवन ने 11 रनों के कुल योग पर पांच विकेट गंवा दिए.

139 के लक्ष्य को हासिल करने के लिए चेन्नई को बिल्कुल मेहनत नहीं करनी पड़ी. उनके सलामी बल्लेबाज़ों ने ही मिलकर काम तमाम कर दिया. मुरली विजय ने नाबाद 50 और माइक हसी ने नाबाद 86 रन बनाकर अपनी टीम को जीत दिला दी. ये काम 18वें ओवर में बिना विकेट गंवाएँ ही हो गया.

दोनों टीमें अपना दूसरा मैच खेल रही थीं. किंग्स इलेवन ने अपने पहले मैच में पुणे वॉरियर्स को पराजित किया था जबकि सुपर किंग्स को मुम्बई इंडियंस के हाथों पहले ही मैच में हार मिली थी.

संबंधित समाचार