BBC navigation

खालिस्तानी वापस लौटना चाहते हैं मगर...

 बुधवार, 13 मार्च, 2013 को 07:54 IST तक के समाचार

लंदन में रह रहे ख़ालिस्तानी अलगाववादी वापस पंजाब लौटना चाहते हैं

लंदन में रह रहे खालिस्तानी अलगाववादी वापस पंजाब लौटना चाहते हैं लेकिन उनका कहना है कि भारत सरकार ने उनका नाम ब्लैकलिस्ट में डाल दिया है जिसकी वजह से वे भारत में घुस भी नहीं सकते.

बीबीसी हिंदी से ख़ास बातचीत में अलगाववादी नेता परमिंदर सिंह बल ने कहा कि ख़ालिस्तान के हिमायती होने के बावजूद उन्हें भारत में प्रवेश न करने देना उनके मानवाधिकारों का उल्लंघन है.

परमिंदर सिंह बल ने कहा, “मैं करीब 48 साल से यहाँ हूँ. ये हो सकता है कि अकाली हमें नहीं आने देना चाहते क्योंकि मौजूदा पंजाब सरकार अकालियों की है जो कि अब पंथिक दल न रहकर एक परिवारिक पार्टी बन गई है.”

लंदन के साउथॉल में 31 साल से रह रहे एक अन्य अलगाववादी नेता जसवंत सिंह ठेकेदार कहते हैं कि वह शांतिपूर्वक तरीके से अपना सियासी संघर्ष करने के पक्षधर हैं.

जसवंत सिंह ठेकेदार ने कहा, “मेरा परिवार, प्रापर्टी सब वहां है. दो-तीन दफ़ा मैंने वीज़ा लेने की कोशिश की लेकिन बिना वजह बताए मुझे वीज़ा देने से इंकार कर दिया गया.”

इस सारे मामले पर विस्तार से चर्चा देखिएगा ईटीवी नेटवर्क पर बीबीसी हिंदी के टीवी कार्यक्रम ग्लोबल इंडिया में.

ग्लोबल इंडिया

ग्लोबल इंडिया हर शुक्रवार ईटीवी नेटवर्क के चैनलों पर प्रसारित किया जाता है. प्रसारण समय हैं:

शुक्रवार – शाम छह बजे – ईटीवी राजस्थान, ईटीवी उर्दू

शुक्रवार – रात आठ बजे – ईटीवी बिहार-झारखंड, ईटीवी उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड, ईटीवी मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़

शनिवार – पुन: प्रसारण – रात आठ बजे –ईटीवी उर्दू

शनिवार – पुन: प्रसारण – रात साढ़े नौ बजे– ईटीवी के सभी हिंदी चैनल

रविवार – पुन: प्रसारण – सुबह 11.00 बजे – ईटीवी के सभी हिंदी चैनल

रविवार – पुन: प्रसारण – दोपहर 1 बजे – ईटीवी उर्दू

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.