रेलवे पुलिस ने ट्रेन से 'फेंका', महिला की मौत

  • 28 फरवरी 2013
मामला उत्तर प्रदेश का है

उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर के पास चलती ट्रेन से रेलवे पुलिस द्वारा कथित तौर पर फेंके जाने से एक महिला की मौत हो गई है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक रेलवे पुलिस के दो जवानों ने गलत ट्रेन में चढ़ने के कारण एक दंपत्ति को जबरन नीचे फेंक दिया.

यहां के सरकारी रेलवे रेलवे पुलिस थाने में दर्ज की गई शिकायत के अनुसार राजेश्वर दत्त त्यागी और उनकी पत्नी संतोष ने जनरल क्लास का टिकट खरीदा था लेकिन गलती से वो दिल्ली-देहरादून शताब्दी ट्रेन में चढ गए थे.

राजेश्वर ने अपनी शिकायत में कहा कि आरपीएफ के दो जजवानों के साथ उनकी तीखी बहस हुई जिसके बाद उन्हें ट्रेन से नीचे छकेल दिया गया.

उनकी पत्नी संतोष रेल पटरी पर गिर गई औऱ उनकी मौत हो गई जबकि राजेश्वर बच गए.

मामला दर्ज

जीआरपी ने कहा कि शिकायत के आधार पर भारतीय दंड संहिता की धारा 304 के तहत सब इंस्पेक्टर रामचंदर और कॉन्सटेबल सुभाष के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है.

हालांकि इस मामले में रेलवे पुलिस शक के दायरे में है लेकिन सुरक्षा के मामले में भारतीय रेल का इतिहास सकारात्मक नहीं है. पिछले साल रेलवे मंत्रालय की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि भारत में हर साल हज़ारों लोगों की मौत ट्रेन से कटकर हो जाती है.

रिपोर्ट में कहा गया था कि हर साल पंद्रह हजार लोग रेल की पटरियां पार करते हुए रेलगाड़ी से कटकर मर जाते हैं. इनमें से क़रीब आधी मौतें मुंबई के उपनगरीय इलाकों में होती हैं.

मशहूर वैज्ञानिक डा. अनिल काकोदकर की अध्यक्षता में तैयार की गई इस रिपोर्ट को पिछले दिनों रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी को सौंपा गया.