पुराने अंदाज में कमाल दिखाएगा फैंटम

  • 3 फरवरी 2013
फैंटम कॉमिक्स
फैंटम की रचना 1936 में हुई थी

फैंटम कॉमिक्स की दुनिया के सबसे शुरुआती और सबसे चर्चित किरदारों में से एक है.

इसके शुरुआती अंकों को फिर से पेश किया जा रहा है ताकि उस दौर के मास्क वाले इस सुपरहीरो को उसी पुराने अंदाज में जीवित रखा जा सके.

फैंटम रिइश्यू को प्रकाशित करने वाली हरनेस प्रेस के डैनियल हरमन कहते हैं कि इसे फिर से प्रकाशित करने की खास वजह है.

बीबीसी से बातचीत में उन्होंने कहा, “सुपरमैन, बैटमैन और मास्क वाले दूसरे सुपर हीरोज से पहले फैंटम आया. इसलिए मैं इसे फिर से प्रिंट करना चाहता था.”

अन्य सुपर हीरो 1930 के दशक के आखिरी सालों में तैयार किए गए थे जबकि ली फाक ने फैंटम को 1936 में बनाया था.

फैंटम का करिश्मा

अपने शुरुआती दिनों में फैंटम ने जापानियों से लोहा लिया क्योंकि उस वक्त दुनिया दूसरे विश्व युद्ध की वजह से भारी उथल पुथल का शिकार थी. लेकिन इस युद्ध में अमरीका के शामिल होने से पहले ही फैंटम द्वितीय विश्व युद्ध के मुद्दों से निपट रहा था.

हरनेस कहते हैं, “वो जापानियों से निपट रहा था, जो फैंटम के आसपास के लोगों को आतंकित कर रहे थे. वो सभी स्थानीय लोगों को जापानियों से बचा रहा था.”

1930 के दशक में एशियाई लोगों के खिलाफ कई तरह के पूर्वाग्रह थे और ये बात उस वक्त के फैंटम स्ट्रिप्स में भी साफ दिखती है.

हरमन कहते हैं कि फैंटम का किरदार आज भी इसलिए अपनी तरफ खींचता है क्योंकि ये बड़ी मजबूती से गढ़ा गया है.

वो कहते हैं, “हम फैंटम के बारे में इस तरह बात करते हैं जैसे कि वो असल में हो. यही इसकी ताकत है.”

हरनेस प्रेस ने फैंटम कॉमिक्स के रिइश्यू की पांचवीं किस्त प्रकाशित की गई है.