'शाहरुख का पाकिस्तान में स्वागत है'

 सोमवार, 28 जनवरी, 2013 को 20:57 IST तक के समाचार
शाहरुख खान

शाहरुख खान को अपनी फिल्म माई नेम इज़ खान के दौरान विरोध का भी सामना करना पड़ा था.

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के उस इंटरव्यू पर विवाद होने लगा है जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत में मुसलमान होने की कुछ समस्याएं भी हैं.

शाहरुख ने यह इंटरव्यू आउटलुक टर्निंग प्वाइंट्स नाम की एक पत्रिका को दिया है जिसके बाद पाकिस्तान के जमात उद दावा के नेता हाफ़िज़ सईद ने कहा कि शाहरुख चाहें तो पाकिस्तान आकर रह सकते हैं और उन्हें यहां पूरी आज़ादी मिलेगी.

अब इस बयानबाज़ी के कारण मुद्दा तूल पकड़ रहा है.

शाहरुख ने अपने इंटरव्यू में 11 सितंबर के बाद के माहौल में भारत में मुसलमान होने के एक बड़े मुद्दे पर बात की है.

वो कहते हैं, ‘‘ मैं कभी कभी बेवजह राजनीतिक नेताओं के निशाने पर होता हूं जो ये समझते हैं कि भारत में मुसलमानों के साथ जो भी गलत और राष्ट्र विरोधी है मैं उसका प्रतीक हूं. मुझ पर कई बार आरोप लगे हैं कि मैं पड़ोसी देश के प्रति अधिक भावनाएं रखता हूं न कि अपने देश के प्रति.’’

ये बयान संभवत शाहरुख खान ने कट्टरपंथी हिंदूवादी नेताओं के संदर्भ में दिया होगा लेकिन इसके बाद हाफिज़ सईद ने बयान देकर और स्थितियां खराब कर दी हैं.

हाफिज़ सईद ने एक्सप्रेस टीवी को दिए इंटरव्यू में कहा है कि शाहरुख खान का हम पाकिस्तान में स्वागत करते हैं और वो जब तक चाहें यहां रह सकते हैं.

शाहरुख खान ने हाफिज़ सईद के बयान पर कोई टिप्पणी करने से इंकार किया है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.