नशा पिलाकर किया बलात्कार, तीन गिरफ़्तार

 शनिवार, 26 जनवरी, 2013 को 19:16 IST तक के समाचार
फाइल फोटो

पीड़ित लड़की ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या की कोशिश की

छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले के अकलतरा इलाके में कॉलेज की एक छात्रा के साथ लगातार हुए दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने एक लड़की सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. वहीं एक अन्य आरोपी अभी भी फरार बताया जाता है. पीड़ित छात्रा को फिलहाल बिलासपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इस मामले को लेकर अभी तक एक पुलिस अधिकारी का तबादला हो चुका है जबकि दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका पर सवाल उठने लगे हैं क्योंकि आरोपी रसूखदार परिवार के बताए जाते हैं.

ये मामला बुधवार को तब सामने आया जब पीड़ित छात्रा ने आत्महत्या करने की कोशिश की थी.

परिवारवालों का आरोप है कि पीड़ित छात्रा अपनी एक सहेली के बुलाने पर उसके घर गई थी जहां उसे शीतल पेय में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया गया था.

इसके बाद तीन युवकों ने बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म किया. पीड़ित छात्रा की बहन का कहना है कि आरोपियों ने दुष्कर्म का वीडियो भी बनाया था.

वीडियो इंटरनेट पर डालने की धमकी

इंटरनेट

पुलिस का कहना है कि इस मामले में शामिल किसी आरोपी को छोड़ा नहीं जाएगा

परिवारवालों का कहना है कि आरोपी दुष्कर्म का वीडियो इंटरनेट पर डालने की धमकी देकर छात्रा का लगातार बलात्कार करते रहे.

इसी से तंग आकर छात्रा ने बुधवार को कीटनाशक पीकर आत्महत्या करने की कोशिश की. पहले उसे अकलतरा के एक स्थानीय अस्पताल ले जाया गया और बाद में उसे बिलासपुर के सिम्स में भर्ती कराया गया.

शनिवार को एक बार फिर उसे दूसरे अस्पताल में भर्ती कराने की नौबत आ गई.

परिवारवालों को पीड़ित छात्रा का लिखा एक 'सुसाइड नोट' भी मिला है जिसमें पूरे मामले की जानकारी देने की बात कही जा रही है. इस पत्र में आरोपियों की निशानदेही भी की गई है.

शुरू में पुलिस पर आरोप लगे कि वो मामले को इसलिए दबाने की कोशिश कर रही है क्योंकि आरोपी काफी रसूख़ वाले हैं.

इनमें एक कांग्रेसी नेता का बेटा है तो दूसरे आरोपी का परिवार बहुजन समाज पार्टी के नेता का करीबी बताया जाता है. तीसरा आरोपी भी पैसे वाला है.

एक आरोपी थाने से फ़रार

जांजगीर-चांपा जिले के पुलिस अधीक्षक पुरुषोत्तम गौतम ने इन आरोपों का खंडन किया है कि पुलिस आरोपियों को बचाने की कोशिश कर रही है.

उनका कहना है कि ये मामला काफी गंभीर है और इसमें शामिल किसी को बक्शा नहीं जाएगा.

मगर पीड़ित छात्रा के परिवारवालों को पुलिस के दावों पर शक है क्योंकि बुधवार को मामले का एक आरोपी थाने से ही फरार हो गया था.

परिजनों का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने परिजनों के दबाव में आकर उसे थाने से जाने दिया. परिजनों को ये भी आशंका है कि उनपर आरोपियों के परिवारवाले हमला भी करवा सकते हैं.

हालांकि पुलिस दावा कर रही है कि पीड़ित छात्रा का बयान दर्ज कर लिया गया है मगर अभी यह नहीं बताया गया है कि छात्रा ने आखिर क्या कहा है.

पीड़ित लड़की को सिम्स अस्पताल से दूसरे अस्पताल ले जाए जाने पर भी परिवार के लोग आशंकित हैं.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.