BBC navigation

'दिल्ली की बहादुर लड़की' को गूगल की श्रद्धांजलि

 सोमवार, 31 दिसंबर, 2012 को 18:37 IST तक के समाचार
गूगल सर्च इंजन

गूगल के भारत के पन्ने पर ये मोमबत्ती लगाई गई है

दिल्ली में सामूहिक बलात्कार की शिकार मृत नवयुवती को इंटरनेट सर्च इंजन गूगल के भारतीय संस्करण, गूगल डॉट को डॉट इन ने भी श्रद्धांजलि दी है.

सर्च इंजन के होमपेज पर सर्च बार के नीचे एक जली हुई मोमबत्ती की तस्वीर लगी है और उस पर क्लिक करने पर अंग्रेज़ी में "दिल्ली की बहादुर लड़की की याद में" लिखा देखा जा सकता है.

न सिर्फ़ भारत बल्कि दुनिया भर में इस बर्बर घटना का विरोध और युवती को इंसाफ़ दिलाने के लिए लोग सड़क पर उतरे हैं और कई जगह मोमबत्तियां जलाकर श्रद्धांजलि देने की ख़बरें आ रही हैं.

दुनिया भर में श्रद्धांजलि

रविवार को अमरीका के वॉशिंगटन में जमा हुए भारतीय मूल के अमरीकियों ने युवती को "एक सच्चा राष्ट्रीय हीरो" बताया. इंडियन अमरीकन मुस्लिम काउंसिल, आईएएमसी, ने एक वक्तव्य में कहा है कि बलात्कार से निपटने वाले क़ानूनों में बदलाव की सिफ़ारिशें देने के लिए पूर्व चीफ जस्टिस जेएस वर्मा की अध्यक्षता में बनाई गई तीन सदस्यों वाली समिति का दायरा बढ़ाना चाहिए जिससे पीड़ितों को जल्द-से-जल्द इंसाफ़ मिल सके.

ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न शहर में शनिवार को लगभग 40 लोग सेंट किल्डा रोड पर भारतीय वाणिज्य दूतावास के बाहर जमा हुए और उन्होंने मोमबत्तियां जलाकर युवती के लिए प्रार्थना की.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने भी इस मामले पर दुख जताया है. बान की मून ने कहा है कि महिलाओं के खिलाफ हिंसा को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. उन्होंने भारत सरकार से आग्रह किया है कि वो इस तरह के अपराध को रोकने के लिए क़दम उठाए और और इस मामले के दोषियों को कड़ी से कड़ी सज़ा मिले.

भारत में आज भी देशभर के कई इलाकों में युवती के लिए इंसाफ़ की मांग को लेकर विरोध प्रर्दशन जारी हैं. राजधानी दिल्ली में सोमवार को नए साल की पूर्वसंध्या पर जंतर मंतर पर जमा होंगे.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.