BBC navigation

पंचतत्व में विलीन हुई बलात्कार पीड़िता

 रविवार, 30 दिसंबर, 2012 को 08:12 IST तक के समाचार

दिल्ली में बलात्कार का शिकार हुई महिला का अंतिम संस्कार कर दिया गया है. उसके शव को रविवार सुबह सिंगापुर से दिल्ली लाया गया था.

एजेंसियों के मुताबिक दक्षिणी दिल्ली के द्वारका में एक शवदाह घाट पर उन्हें मुखाग्नि दे दी गई.

एजेंसियों के मुताबिक विमान के दिल्ली पहुंचने के वक्त प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी हवाई अड्डे पर मौजूद थे.

16 दिसंबर को चलती बस में बलात्कार की जघन्य घटना के बाद लड़की को गंभीर चोटे आई थीं जिसके बाद से उसका इलाज दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में चल रहा था.

क्लिक करें अपनों की बुरी नज़र का शिकार होती हैं बेटियाँ

26 दिसंबर को उसे विशेष विमान से इलाज के लिए सिंगापुर लाया गया था. लेकिन शनिवार सुबह सिंगापुर में उसने दम तोड़ दिया था.

दिल्ली पुलिस ने अभियुक्तों के खिलाफ हत्या का आरोप दायर किया है. पुलिस तीन जनवरी को कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करेगी.

वरिष्ठ वकील दयानकृष्णन बलात्कार के इस मामले में विशेष पब्लिक प्रोसुक्यूटर होंगे. दिल्ली पुलिस के मुताबिक उन्होंने खुद से इस काम का जिम्मा उठाने की पहले की है और वो भी बिना फीस लिए.

बलात्कार की घटना के क्लिक करें विरोध में शनिवार को दिन भर दिल्ली समेत विभिन्न शहरों में प्रदर्शन हुए थे और लोगों ने मोमबत्तियाँ जलाकर उसे श्रद्धांजलि थी.

शनिवार को पुलिस ने दिल्ली के कई इलाकों को सील कर दिया था और कई मेट्रो स्टेशन भी बंद रहे.

बलात्कार के आँकड़ें

दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित भी जंतर मंतर पर दिन में पहुँची थी लेकिन उन्हें लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा.

क्लिक करें मर्द होने पर शर्मिंदा हूँ: शाहरुख़ खान

बाद में बीबीसी ने न्यूज़आर कार्यक्रम में शीला दीक्षित ने कहा, "जब लोग कहते हैं कि दिल्ली भारत की रेप कैपिटल है तो मैं बहुत दुखी और चिंतित हो जाती हूँ. हमें दिल्ली को इस नाम से मुक्ति दिलानी होगी. हमें सुनिश्चित करना होगा कि दिल्ली सुरक्षित शहर बने. हमने इसके लिए कई कदम उठाए हैं और आगे भी उठाएँगे ताकि महिलाएँ सुरक्षित महसूस करें."

पीटीआई के मुताबिक भारत में प्रसारकों की संपादकीय एसोसिएशन ने समाचार चैनलों को सुझाव दिया है कि वो लड़की के अंतिम संस्कार की कवरेज न करें ताकि दुख की इस घड़ी में परिवार की निजता का सम्मान किया जा सके.

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2010 में बलात्कार के 20,262 मुकदमे दर्ज़ किए गए जबकि 2011 में इस से चार हज़ार ज़्यादा.

आंकड़ों पर नज़र डालें तो बलात्कार के मामलों में मध्य प्रदेश सब से आगे है. पिछले साल राज्य में बलात्कार के 3,406 मुक़दमे दर्ज किये गए थे. अगर शहरों की बात करें तो वर्ष 2011 में बलात्कार के 507 मामलों के साथ दिल्ली सबसे आगे रही. उसी साल मुंबई में 117 मुक़दमे दर्ज किये गए.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.