कड़े इंतज़ामों के चलते प्रदर्शनकारी नदारद

 मंगलवार, 25 दिसंबर, 2012 को 13:35 IST तक के समाचार
विरोध प्रदर्शन

पुलिस के कडे इंतजामों का प्रदर्शनकारियों का असर पड़ा है.

दिल्ली में चलती बस में लड़की के साथ बर्बर क्लिक करें सामूहिक बलात्कार का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों को इंडिया गेट से दूर रखा गया है.

कड़े सुरक्षा इंतजामों में बीच सीमित संख्या में ही प्रदर्शनकारी जंतर मंतर तक पहुंच पा रहे हैं.

मंगलवार को भी इंडिया गेट के आसपास के नौ मेट्रो स्टेशनों को आम जनता के लिए बंद कर दिया गया है.

हालांकि आज क्रिसमस की छुट्टी है लेकिन फिर भी इंडिया गेट के आस-पास की सड़कों के बंद होने की वजह से लोगों को ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ रहा है.

वहीं सफदरजंग अस्पताल में भर्ती पीड़ित लड़की की स्थिति गंभीर बनी हुई है.

सिपाही की मौत

उधर इंडिया गेट पर प्रदर्शनकारियों के साथ झड़पों में घायल सिपाही सुभाष तोमर की मौत हो गई है.

बंद मेट्रो स्टेशन

  • प्रगति मैदान
  • मंडी हाउस
  • बाराखंभा रोड
  • राजीव चौक
  • केंद्रीय सचिवालय
  • पटेल चौक
  • उद्योग भवन
  • रेसकोर्स
  • खान मार्केट

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत का कहना है कि सुभाष को झड़पों के दौरान गंभीर चोटें आई थीं जिसके बाद उन्हें राममनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मगर सुबह उनके निधन की ख़बर आई.

वह जब से अस्पताल में भर्ती हुए थे तब से वेंटीलेटर पर थे. उत्तर प्रदेश के मेरठ के रहने वाले सुभाष प्रदर्शनकारियों से झड़प के बाद तिलक मार्ग पर पड़े मिले थे और उन्हें अस्पताल पहुँचाया गया था.

क्लिक करें मामला फास्ट ट्रैक अदालत में

इधर पुलिस प्रशासन के दिमाग़ में सवाल है कि क्या मंगलवार को भी लोग सड़कों पर उतरेंगे? ये सवाल इसलिए क्योंकि मंगलवार को क्रिसमस की वजह से अवकाश है और बीते शनिवार-रविवार का घटनाक्रम बताता है कि लोगों ने छुट्टी का इस्तेमाल क्लिक करें इंडिया गेट पहुंचकर अपना विरोध दर्ज कराने के लिए किया.

हालांकि सोमवार को कामकाज का दिन होने के बाद भी बड़ी संख्या में लोगों ने केंद्रीय दिल्ली तक पहुंचने की कोशिश की थी और प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे. इसके बाद लोग जंतर-मंतर पर जुटे थे और वहीं उन्होंने शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन किए.

तैयारी मंगलवार की

केंद्रीय दिल्ली में इंडिया गेट और क्लिक करें रायसीना हिल्स की ओर जाने वाले रास्तों पर पुलिस ने अब भी अवरोधक खड़े कर रखे हैं. सोमवार को इसकी वजह से आम लोगों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था.

इलाके को जोड़ने वाले नौ मेट्रो स्टेशनों को मंगलवार को भी बंद रखा गया है. ये स्टेशन हैं- प्रगति मैदान, मंडी हाउस, बाराखंभा रोड, राजीव चौक, केंद्रीय सचिवालय, पटेल चौक, उद्योग भवन, रेसकोर्स, और खान मार्केट.

लड़की की हालत

कुछ अहम मेट्रो स्टेशन बंद होने की वजह से लोगों को बड़ी परेशानी हो रही है

पीड़ित लड़की अभी भी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती है जहां वह क्लिक करें जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है.

लड़की की देखभाल करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि सांस लेने में तकलीफ होने की वजह से उसे जीवन-रक्षक प्रणाली पर रखा गया है.

डॉक्टरों का कहना है कि राहत की बात बस इतनी है कि पीड़िता के फेफड़े और किडनी ठीक तरह से काम कर रहे हैं, लेकिन संक्रमण की वजह से शरीर के भीतर रक्तस्राव भी हुआ है जो खतरे का संकेत है.

सियासी हलचल

इस पूरे मामले में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने सोमवार देर शाम राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की है.

मुलाकात के बाद मीडिया से रूबरु भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा, ''बलात्कार की इस घटना पर लोगों का गुस्सा जिस तरह से फूट रहा है, उससे यही लगता है कि सरकार वो नहीं कर रही है जो उसे करना चाहिए.''

वहीं सुषमा स्वराज ने कहा कि विपक्ष इस पूरे घटनाक्रम पर संसद का विशेष सत्र और सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग कर रहा है जिससे मानने से इनकार कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.