सरकार नहीं गिराना चाहता: येदियुरप्पा

 शुक्रवार, 7 दिसंबर, 2012 को 07:27 IST तक के समाचार
येदियुरप्पा

कर्नाटक विधानसभा का कार्यकाल अगले साल मई में समाप्त हो रहा है

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा का कहना है कि वह राज्य में जगदीश शेट्टर के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार को गिराना नहीं चाहते.

बीबीसी से विशेष बातचीत में उन्होंने कहा कि चूंकि वो जगदीश शेट्टर का समर्थन करते रहे हैं, इसलिए वह उनकी सरकार को गिराने के पक्ष में नहीं हैं.

येदियुरप्पा यह भी चाहते हैं कि भारतीय जनता पार्टी में उनका समर्थन कर रहे विधायक और सांसद अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद उनके साथ जुड़ जाएं.

पिछले शुक्रवार को येदियुरप्पा नें भारतीय जनता पार्टी से अपना चार दशकों का नाता तोड़ लिया था और कर्नाटक में एक नए क्षेत्रीय राजनीतिक दल के गठन की घोषणा की थी.

कर्नाटक जनता पक्ष के नाम से बनाए गए इस दल के अध्यक्ष के रूप में येदियुरप्पा आठ दिसंबर को कार्यभार ग्रहण करेंगे.

उसी दिन हावेरी में एक बड़ी रैली का आयोजन भी किया गया है जिसमें भारतीय जनता पार्टी में येदियुरप्पा का समर्थन कर रहे कई मंत्रियों और विधायकों के शामिल होने के कयास लगाए जा रहे हैं.

भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि जो विधायक हावेरी में येदियुरप्पा की रैली में शामिल होंगे, उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कारवाई की जाएगी.

इस बारे में येदियुरप्पा कहते हैं, "हमने कह दिया है कि सभी विधायक अपना कार्यकाल पूरा करें. विधानसभा का कार्यकाल ख़त्म होने के बाद वो साथ आ सकते हैं. जगदीश शेट्टर को हमने समर्थन दिया और उनकी सरकार गिराने की हमारी कोई मंशा नहीं है."

भाजपा पर छल करने का आरोप

"हमने कह दिया है कि सभी विधायक अपना कार्यकाल पूरा करें. विधानसभा का कार्यकाल ख़त्म होने के बाद वो साथ आ सकते हैं. जगदीश शेट्टर को हमने समर्थन दिया और उनकी सरकार गिराने की हमारी कोई मंशा नहीं है."

येदियुरप्पा

कर्नाटक विधानसभा का कार्यकाल अगले साल मई में समाप्त हो रहा है.

इसबीच ऐसी उम्मीद की जा रही है कि येदियुरप्पा का समर्थन कर रहे कई विधायक हावेरी की रैली में शामिल हो सकते हैं.

बातचीत के क्रम में येदियुरप्पा ने आरोप लगाया कि भाजपा का शीर्ष नेतृत्व सिर्फ ऐसे नेता को मुख्यमंत्री बनाना चाहता है जिसकी लगाम पार्टी के हाथों में हो,

येदियुरप्पा के मुताबिक, संगठन को ये बर्दाश्त नहीं है कि किसी नेता का राजनीतिक क़द ऊंचा उठे.

अपनी चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व ने उनके साथ छल किया है. पार्टी कहती रही थी कि अगर अदालत उन्हें निर्दोष साबित करती है तो उन्हें फिर से मुख्यमंत्री बनाया जाएगा.

मगर येदियुरप्पा कहते हैं कि ऐसा नहीं हुआ जिसके कारण उन्होंने पार्टी से हमेशा के लिए अपना नाता तोड़ लिया है.

अब येदियुरप्पा को भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस और कर्नाटक के दूसरे क्षेत्रीय दल से भी ज्यादा बुरी लगने लगी है. यही कारण है कि वो अब भाजपा से समर्थन लेने और देने के पक्ष में नहीं हैं.

येदियुरप्पा का कहना है कि अब अपनी नई पारी में वो एक आज़ाद पंछी हैं और अब उनका ज़ोर कर्नाटक के विकास पर होगा. वो साथ ही दावा करते हैं कि उन्हें अल्पसंख्यकों का समर्थन भी प्राप्त है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.