कैमरे में कैद मौत के पल और विवाद

  • 6 दिसंबर 2012
 न्यूयॉर्क सबवे
इस मामले में एक व्यक्ति से पूछताछ हो रही है

अमरीका के न्यूयॉर्क शहर में सामने से आती एक भूमिगत रेलगाड़ी के सामने आने से मरे व्यक्ति की मौत के पलों की तस्वीर लेने और फिर वो तस्वीर अखबार में छापे जाने पर विवाद गहरा गया है.

ये तस्वीर आर उमर अब्बासी नाम के एक फ्रीलांस फोटोग्राफर ने खिंची जो उस वक्त प्लेटफॉर्म पर इंतजार कर रहे थे.

कुछ लोग अब्बासी की इसलिए आलोचना कर रहे हैं क्योंकि इन लोगों के मुताबिक सुक हान नाम के इस व्यक्ति को बचाने की बजाय अब्बासी ने फोटो खींचने में ज्यादा रुचि दिखाई.

न्यूयॉर्क पोस्ट अखबार ने हान के मौत के इन पलों को अपने पहले पन्ने पर प्रकाशित किया.

‘मनोवैज्ञानिक समस्या’

इस बीच एक बेघर व्यक्ति 30 वर्षीय नईम डेविस पर हान को रेल की पटरी पर धकेलने के आरोप लगे हैं और उनसे इस बारे में पूछताछ हो रही है.

चश्मदीदों का कहना है कि एक व्यक्ति प्लेटफॉर्म पर खुद से बात कर रहा था. तभी वो 58 वर्षीय हान के पास पहुंचा और उसने कहा सुनी के बाद उन्हें रेल की पटरियों पर धकेल दिया. सामने से रेलगाड़ी आ रही थी.

अब्बासी ने एनबीसी टीवी चैनल के साथ बातचीत में कहा कि अपने कैमरे के फ्लैश के साथ वो रेलगाड़ी के ड्राइवर का ध्यान आकर्षित करने की कोशिश कर रहे थे.

उन्होंने कहा, “ये समझने में मुझे एक सेकंड लगा कि क्या हो रहा है. मैंने दूर से लाइटें देखीं. मेरा ध्यान इस बारे में ट्रेन को सूचित करने पर था.”

अब्बासी ने बताया कि हान के आसपास के लोगों ने उन्हें बचाने की कोशिश नहीं की. उनके अनुसार, “वे थोड़ा सा आगे बढ़ कर उन्हें ऊपर खींच सकते थे लेकिन किसी ने कोई प्रयास नहीं किया.”

मंगलवार को न्यूयॉर्क के मेयर माइकल ब्लूमबर्ग ने कहा कि हमलावर मनोवैज्ञानिक समस्या से ग्रस्त लगता है.