BBC navigation

जयपुर में होगा कांग्रेस का 'चिंतन शिविर'

 रविवार, 2 दिसंबर, 2012 को 13:03 IST तक के समाचार

चिंतन शिविर में सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी हिस्सा लेंगे. तस्वीर एपी

कांग्रेस का बहु प्रचारित 'चिंतन शिविर' अगले साल जनवरी में जयपुर में आयोजित किया जाएगा. इसके साथ ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी की एक बैठक भी होगी.

हालांकि कई और राज्य भी इस आयोजन की मेजबानी को उत्सुक थे मगर पार्टी नेतृत्व ने इसके लिए राजस्थान के जयपुर को पसंद किया है.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल, पार्टी महासचिव जनार्दन द्विवेदी और कोषाध्यक्ष मोतीलाल वोरा शनिवार को जयपुर पहुंचे और शिविर के संभावित स्थानों का मुआयना किया.

पार्टी नेताओ का ये दल अचानक शनिवार को विशेष विमान से जयुपर पंहुचा और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पार्टी अध्यक्ष डॉ. चन्द्रभान के साथ जयपुर में उन स्थानों को देखा जहाँ चिंतन शिविर संपन्न होगा.

इन नेताओ ने चिंतन शिविर के लिए जयपुर के 'बिरला सभागार ' की निशानदेही की है.

'गंभीर चिंतन'

कांग्रेस महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि पार्टी के बुराड़ी अधिवेशन में इस तरह के चिंतन शिविर का निर्णय लिया गया था.

उनसे पूछा गया कि इसमें क्या हो सकता है तो उन्होंने कहा, "जाहिर है इसमें राजनैतिक हालात और इससे जुड़े विषय पर गंभीर चिंतन किया जाता है. ऐसे शिविर में वर्तमान राजनैतिक हालात, उसके विभिन्न पहलू जैसे आर्थिक मुद्दे, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय समस्याओं पर चर्चा होती है."

उन्होंने कहा संभवत: 17 से 19 जनवरी तक पार्टी के नेता जयपुर में जमा होंगे.

इन तीन दिनों तक पार्टी अध्यक्ष सोनिया गाँधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित कांग्रेस के दूसरे बड़े नेता जयपुर में मौजूद रहेंगे.

शिविर इसलिए भी अहम होगा क्योंकि इसमें कांग्रेस के महासचिव राहुल गाँधी को और अधिक जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.