BBC navigation

'जमाई राजा' को बचा रही है सरकार: मोदी

 रविवार, 14 अक्तूबर, 2012 को 12:02 IST तक के समाचार
नरेंद्र मोदी

नरेन्द्र मोदी इन दिनों चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं.

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा का "बचाव" करने के लिए मनमोहन सिंह सरकार को आड़े हाथों लिया है.

मोदी का कहना है कि आतंकवाद से पीड़ित लोगों के साथ एकजुटता दिखाते समय कांग्रेस में ऐसी संवेदनशीलता की "कमी" नज़र आती है.

पीटीआई के मुताबिक मोदी ने कोई नाम न लेते हुए कहा, "एक परिवार के दामाद के ख़िलाफ़ कुछ आरोप थे और पूरी मनमोहन सिंह सरकार को उनके बचाव में लगा दिया गया. ये उसका व्यक्तिगत मामला हो सकता है और समय के साथ सच्चाई सामने आएगी."

शनिवार को जामनगर ज़िले के द्वारका में एक रैली संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, "लेकिन इन आरोपों के बाद सारी दिल्ली सल्तनत इतना घबरा गई कि उन्हें लगा बहुत बड़ा तूफ़ान, एक बड़ा स्कैंडल होने वाला है और उन्हें उसे बचाना चाहिए और सारी सरकार उस व्यक्ति के बचाव में निकल आई."

बचाव

मुख्यमंत्री का कहना था कि किसी प्राकृतिक आपदा के समय भी पूरी सरकार ऐसे सामने नहीं आई है.

उन्होंने कहा, "जब किसी आंतकवादी हमले में लोग मारे जाते हैं, सारी केंद्रीय सरकार आतंकवाद के ख़िलाफ़ आवाज़ नहीं उठाती. उनका एक प्रवक्ता बोलता है और बात वहीं ख़त्म हो जाती है."

मोदी का आरोप था, "ये पहला मौका है जब सरकार और उसके सारे मंत्रियों को "जमाई राजा" के बचाव में उतार दिया गया हो".

भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ आंदोलन करने वाले और अब राजनीति में पैर रख चुके अरविंद केजरीवाल का आरोप है कि उत्तर भारत के एक बड़े रियल एस्टेट डेवलपर डीएलएफ़ समूह ने गलत तरीकों से रॉबर्ट वाड्रा को 300 करोड़ रुपयों की संपत्तियाँ कौड़ियों के दामों में दे दीं.

लेकिन डीएलएफ़ और रॉबर्ट वाड्रा ने इन आरोपों से इंकार किया है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.