कांग्रेसी कुछ भी कहने से डरते हैं: नरेंद्र मोदी

  • 4 अक्तूबर 2012
मोदी
मोदी ने विश्वास जताया कि गुजरात में इस बार भी नतीजे पिछली बार की तरह ही आएंगे. (फाइल तस्वीर)

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से वॉक युद्ध जारी रखते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कांग्रेस कुछ भी कहने से डर रही है कि कहीं राज्य के लोग उनके खिलाफ न हो जाएं.

गुरुवार को दाहोद में हुई रैली में मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बुधवार को उन्होंने कहा, ''उनके भाषण में कुछ भी नहीं था. स्थानीय अखबारों में सोनिया का भाषण छपा तक नहीं है, सिर्फ तस्वीरें हैं.''

बुधवार को अपने भाषण में सोनिया ने गुजरात में विकास के दावों पर सवाल उठाए थे जिस पर जवाबी हमला करते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस लोगों को छल रही है और गुजरात की जनता उसे माफ नहीं करेगी.

लोगों से 'छल'

मोदी ने कहा, ''साल 2009 में जीतने के बाद यूपीए सरकार ने 100 दिनों में महंगाई ख़त्म करने का वादा किया था...क्या वो ऐसा कर पाई है?..क्या किसी को नौकरी मिली है?''

उन्होंने जनता से पूछा कि क्या यह जनता से छल नहीं है. मोदी ने विश्वास जताया कि गुजरात में इस बार भी नतीजे पिछली बार की तरह ही आएंगे.

मोदी ने कहा, 'साल 2007 के चुनावों में कांग्रेस को छोटा उदयपुर में हार का सामना करना पड़ा था जहां से सोनिया गांधी ने पार्टी का चुनाव अभियान शुरू किया था. इस बार भी हम राजकोट की सीटें जीतेंगे जहां से उन्होंने अपना प्रचार शुरू किया है.''

सोनिया के सवाल

राजकोट में दिए भाषण में सोनिया गांधी ने नरेंद्र मोदी पर कोई निजी टिप्पणी नहीं की थी लेकिन उनके विकास और सुशासन के दावों पर सवाल उठाए थे.

उन्होंने कहा था, "गुजरात में जब गरीब लोग अपने हक माँगते हैं तो उन्हें गोलियाँ मिलती हैं."

हालांकि इससे एक दिन पहले मोदी ने आरोप लगाया था कि सरकार ने सोनिया के विदेशी दौरों और उपचार पर 1800 करोड़ रुपए खर्च कर डाले हैं. इन आरोपों को सोनिया ने निराधार बताया था.